राजा बलरामपुर धर्मेन्द्र प्रसाद सिंह की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, पूरा शहर रहा गमगीन, बेटे ने दी मुखाग्नि

डीएन ब्यूरो

राजा बलरामपुर धर्मेन्द्र प्रसाद सिंह शव यात्रा के दौरान यहां भारी जनसैलाब उमड़ पड़ा। उनकी अंतिम यात्रा के दौरान पूरा शहर गमगीन रहा। गाजे-बाजे के साथ चल रही यात्रा के दौरान जगह-जगह पुष्पवर्षा होती रही। राप्ती नदी के किनारे राजपरिवार द्वारा बनवाये गए घाट पर जयेंद्र प्रताप सिंह ने उनको मुखाग्नि दी। पूरी खबर..

नगर भ्रमण के साथ शुरू हुई अंतिम यात्रा
नगर भ्रमण के साथ शुरू हुई अंतिम यात्रा

बलरामपुर: राजा बलरामपुर धर्मेन्द्र प्रताप सिंह की शव यात्रा के दौरान यहां भारी जनसैलाब उमड़ पड़ा। नील बाग़ पैलेस से शुरू हुई शव यात्रा जैसे ही नगर भ्रमण के लिए निकली, पूरा शहर उनकी अंतिम यात्रा में रोते हुए पीछे-पीछे चल पड़ा। पीछे बलरामपुर रोके चल पड़ा। भारी संख्या में जगह-जगह भीड़ उमड़ पड़ी। गाजे-बाजे के साथ चल रही यात्रा के दौरान जगह-जगह पुष्पवर्षा होती रही। 

 

वेद मंत्रोच्चारण के साथ महाराज का अंतिम संस्कार राप्ती नदी  के किनारे हुआ। इस अवसर पर एनसीसी के जवानों ने अंतिम सलामी दी। कुँवर जयेंद्र प्रताप सिंह ने राजा को मुखाग्नि दी।बलरामपुर की महिलाओं, पुरुषोंं बच्चों और बूढ़ों ने नम आँखों से अपने शहर के राजा को अंतिम विदाई दी।  

 

अंतिम संस्कार में देश-विदेश से आये राजा और राजपरिवार के सदस्य भी शामिल रहे। जिसमें नेपाल, पाकिस्तान सहित अन्य देशों के राजा शामिल रहे।

इससे पहले शव यात्रा में भारी संख्या में शामिल लोग जब तक सूरज चाँद रहेगा महाराज जी का नाम रहेगा  के नारे लगा रहे थे

पुष्पो की वर्षा के साथ दी गई श्रंद्धांजलि

महाराज धर्मेन्द्र प्रताप सिंह की शव यात्रा नील बाग़ पैलेस से निकली गई। जगह जगह शव यात्रा को रोक कर आम जन मानस द्वारा श्रद्धांजलि दी गई। शव यात्रा के आगे आगे पुष्पों की वर्षा की जा रही थी। वही जिन रास्तों पर शव यात्रा निकली उन रास्तों पर जनता द्वारा पुष्प वर्षा की गई। वीर विनय चौराहा, चौक बाजार, बड़ापुल, राजा देवढ़ी, सिटी पैलेस, एमएलके कॉलेज सहित जगह जगह उनकी शव यात्रा को रोक माल्यार्पण, पुष्पार्जन कर श्रद्धांजलि दी गई।

श्रद्धांजलि देने वालों का लगा तांता

महाराजा बलरामपुर को श्रद्धांजलि देने वालो का तांता लगा रहा। बलरामपुर डीएम कृष्णा करुणेश, एसपी राजेश कुमार सहित, सांसद दद्दन मिश्र, विधायक पलटू राम, गैंसड़ी विधायक शैलेश प्रताप सिंह शैलू,  तुलसीपुर विधायक कैलाश नाथ शुक्ला, पूर्व मंत्री डॉ एसपी यादव, पूर्व विधायक धीरेन्द्र प्रताप सिंह, नगर पालिका चेयरमैन प्रतिनिधि शाबान अली आदि लोग शामिल रहे।


राप्ती नदी तट पर हुआ अन्तिम संस्कार

महाराजा स्वर्गीय धर्मेन्द्र प्रताप सिंह का अंतिम संस्कार राप्ती नदी  के किनारे राजपरिवार द्वारा बनवाये गए घाट पर हुआ। जहाँ बड़ी संख्या में आम जनमानस व राजपरिवार के लोग मौजूद रहे। महाराज धर्मेन्द्र प्रताप सिंह को मुखाग्नि उनके पुत्र जयेंद्र प्रताप सिंह ने दी।

राजपूताना ढंग से दी गई सलामी

महाराजा बलरममपुर धर्मेन्द्र प्रताप सिंह का अंतिम संस्कार राजपुताना ढंग से हुआ। अंतिम संस्कार में देश व विदेश से राजपरिवार एकत्रित हुआ। 

गौरतलब है कि महाराजा बलरामपुर धर्मेन्द्र प्रताप सिंह का निधन दिल का दौरा पड़ने से उस समय हुआ था जब वह लखनऊ गोमतीनगर में शॉपिंग के लिए निकले थे। महाराज के आकस्मिक निधन की सूचना मिलते ही बलरामपुर की जनता में शोक की लहर दौड़ उठी। सोमवार की देर उनका पार्थिव शरीर बलरामपुर उनके आवास नील बाग़ पैलेस लाया गया। जंहा तेज बारिश होने के बावजूद जनता उनके दर्शन के लिए उमड़ पड़ी और महाराज बलरामपुर के अंतिम दर्शन किये।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार