लखनऊ: मूर्ति विसर्जन के दौरान डूबे दो युवक लापता, पुलिस लापरवाही के खिलाफ लगाया जाम

डीएन संवाददाता

हसनगंज थानाक्षेत्र में गोमती नदी के बंधा पुल पर मूर्ति विसर्जन करने के दौरान नदी में नहाने गए 6 लोगों में से दो अभी तक लापता है। डूबे युवकों की तलाशी में लापरवाही के खिलाफ लोगों ने रास्ता जाम कर दिया। डाइनामाइट न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


लखनऊ: हसनगंज थाना क्षेत्र में मूर्ति विसर्जन के दौरान नदी में नहाने गए 6 लोग नदी में ही डूबने लगे। वहां मौजूद लोगों ने डूब रहे 3 लोगों को किसी तरह बचाया, लेकिन बाकी 3 लोग गहरे पानी में डूब गए। बाद में 1 युवक को कड़ी मशक्कत बाद जिंदा निकाला गया लेकिन उसने अस्पताल पहुंचते ही दम तोड़ दिया। गोताखोरों की मदद  के बावजूद भी लापता 2 युवकों नहीं ढूंढ़ा जा सका। तलाशी में पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए गुस्साये लोगों ने यहां जाम लगा दिया, जिससे आवागमन बाधित रहा।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: SC/ST एक्ट में संशोधन के खिलाफ उग्र विरोध, प्रदर्शनकारियों और पुलिस में तीखी झड़प

गौरतलब है कि गणेश चतुर्थी के बाद बुधवार को हसनगंज थानाक्षेत्र में गोमती नदी के बंधा पुल पर मूर्ति विसर्जन करने के लिए भक्तगण एकत्र हुए थे। इसी दौरान नदी में नहाने गए 6 लोग गहरे पानी में डूबने लगे। गोताखोरों ने 3 लोगों को तो डूबने से बचा लिया, मगर 3 लोग डूब गए। गोताखोरों ने कड़ी मशक्कत के बाद विशाल नाम के युवक को जिंदा निकाला। मगर उसने अस्पताल पहुचते ही दम तोड़ दिया। एनडीआरएफ की टीम 2 अन्य युवकों की खोजबीन देर रात तक करती रही, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी।

यह भी पढ़ें: जानें, पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई के चंगुल में कैसे फंसा बीएसएफ का जवान 

लापरवाही के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूटा

डूबे युवकों को खोजने में प्रशासन की लापरवाही को लेकर पीड़ित के परिजनों द्वारा देर रात को बंधा रोड पर जाम लगा दिया। इन लोगो में प्रशासन की लापरवाही को लेकर काफ़ी गुस्सा था। उनका कहना था कि देर रात तक अंधेरे में ही दूसरे डूबे हुए व्यक्ति की तलाश की जा रही थी। प्रशासन की ओर से लाइट तक का इंतज़ाम नहीं किया गया है। जब घटना की जानकरी बीजेपी विधायक नीरज बोरा को हुई तो वे भी मौके पर पहुंचे और लापता युवकों के परिजन से मिले और पुलिस कर्मियों को तेज काम करने की हिदायत दी।

देर रात तक एनडीआरएफ की टीमें भी लगाई गई, मगर लापता युवकों का कुछ पता नही चल पाया। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार