राजेश साहनी के मित्र और वरिष्ठ पत्रकार विनोद कापड़ी डाइनामाइट न्यूज़ से बोले- सुसाइड केस संदिग्ध, CBI जांच से होगा राजफाश

जय प्रकाश पाठक

उत्तर प्रदेश पुलिस के एक जाबांज और खुशमिजाज अफसर राजेश साहनी द्वारा अपनी सर्विस पिस्टल से खुद को गोली मारकर खुदकुशी करने की घटना से दिवंगत अफसर के करीबी दोस्त काफी हैरान है। डाइनामाइट न्यूज से बातचीत में उन्होंने कहा कि इस केस में कुछ 'मिसिंग' जरूर है, जिसकी जांच जरूरी है। एक्सक्लूसिव रिपोर्ट


लखनऊ: यूपी एटीएस के जांबाज, कर्मठ और खुशमिजाज अधिकारी राजेश साहनी द्वारा अपनी सर्विस पिस्टल से खुद की जान लेने की घटना से हर कोई हतप्रभ है। एक जिंदादिल इंसान द्वारा उठाये गये इस घातक कदम को लेकर हर किसी को यकीन करना मुश्किल हो रहा है। साहनी के बेहद करीबी दोस्तों का मानना है कि इस केस में ऐसा कुछ जरूर है, जो अब तक सामने नहीं आया है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: राजकीय सम्मान और नम आंखों के साथ जांबाज अफसर राजेश साहनी को दी गयी अंतिम विदायी 

एटीएस के दिवंगत एडिशनल एसपी राजेश साहनी के घनिष्ठ मित्र और वरिष्ठ पत्रकार विनोद कापड़ी ने डाइनामाइट न्यूज़ से बातचीत में इस सुसाइड केस को काफी संदिग्ध बताया। उन्होंने कहा कि यह मामला काफी चौंकाने वाला है और सीबीआई जांच के बाद ही इस केस का राजफाश हो सकता है। 

यह भी पढ़ें: क्या आत्महत्या के लिए यूपी एटीएस के एएसपी राजेश साहनी को किसी ने किया मजबूर? 

विनोद कापड़ी ने सवाल उठाया कि एक जिंदादिल और खुशमिजाज इंसान आखिर कैसे आत्महत्या कर सकता है? उनकी बेटी का हाल ही में एक प्रतिष्ठित संस्था में एडमिशन हुआ था, जिसको लेकर वे काफी खुश थे। ऐसे में एकाएक राजेश का आत्महत्या करना किसी के गले नहीं उतर रहा है। उन्होंने काह कि राजेश 10 दिनों के अवकाश पर थे। ऐसे मे अवकाश के बीच में ही वह एटीएस मुख्यालय कैसे व क्यों पहुंचे?  कापड़ी ने कहा कि एटीएस मुख्यालय पहुंचने के बाद राजेश ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से आत्महत्या कर ली, जिसका समय 12:30 से 1:00 के बीच में बताया जा रहा है। ऐसे में उन्हें तुरंत अस्पताल क्यों नहीं ले जाया गया। इन सवालों को उठाते हुए, उन्होंने इसमें किसी गहरे रहस्य का भी अंदेशा जताया और सीबीआई जांच की मांग उठाई है। 

यह भी पढ़ें: यूपी पुलिस के जांबाज अफसर राजेश साहनी को दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर, बेटी देगी मुखाग्नि 

 

 

दिवंगत अफसर राजेश साहनी के खास दोस्त दीपक कबीर ने डाइनामाइट न्यूज़ से बातचीत में कहा कि साहनी का जाना उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस के लिये काफी बड़ा लॉस है। उनका कहना है कि राजेश एक ज्वॉफुल लाइफ जी रहा था, उन्हें किसी भी तरह का तनाव या अवसाद नहीं था, ऐसे में उनका अचानक सोसाइड करना काफी चौंकाने वाला है। कबीर का कहना है कि इस केस में कुछ न कुछ 'मिसिंग' जरूर है, जिसको सामने लाया जाना चाहिये।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: ATS के एएसपी राजेश साहनी ने खुद को गोली मार की आत्महत्या, पुलिस विभाग में हड़कंप

कबीर ने बताया कि राजेश कोई किताब लिखने की तैयारी कर रहे थे, जिसे लेकर भी वह काफी खुश थे। कबीर ने डाइनामाइट न्यूज़ से कहा कि बुधवार की शाम वे सभी दोस्त, अभिभावक और परिजन इस मामले में प्रशासन से मिलेंगे और मामले की जांच को लेकर बात करेंगे।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार