लखनऊ: यूपी पुलिस के जांबाज अफसर राजेश साहनी को दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर, बेटी देगी मुखाग्नि

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड (यूपी एटीएस) के जांबाज और कर्मठ पीपीएस अधिकारी राजेश साहनी को अंतिम संस्कार से पूर्व बुधवार को पुलिस लाइन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। पूरी खबर..

पुलिस लाइन में दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर
पुलिस लाइन में दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश एंटी टेरेरिस्ट स्क्वायड (यूपी एटीएस) के जांबाज और कर्मठ पीपीएस अधिकारी राजेश साहनी को अंतिम संस्कार से पूर्व पुलिस लाइन में बुधवार को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। साहनी के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार थोड़ी ही देर बाद भैंसा कुंड में होगा, जहां उनकी इकलौती बेटी उनके पार्थिव शरीर को मुखाग्नि देगी। 

यह भी पढ़ें: लखनऊ: ATS के एएसपी राजेश साहनी ने खुद को गोली मार की आत्महत्या, पुलिस विभाग में हड़कंप

पुलिस लाइन में गार्ड ऑफ ऑनर के मौके पर कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और कर्मियों ने बड़ी संख्या में शिरकत की। उनके पार्थिव शरीर के दर्शन के लिये पुलिस कर्मियों, उनके चहेते लोगों और परिजनों की भीड़ लगी रही। 

 

यह भी पढ़ें: क्या आत्महत्या के लिए यूपी एटीएस के एएसपी राजेश साहनी को किसी ने किया मजबूर? 

1992 बैच के वरिष्ठ पीपीएस अधिकारी राजेश साहनी ने मंगलवार को एटीएस के अपने कार्यालय में अपनी ही सर्विस पिस्टल से खुद को गोली मार कर मौत को गले लगा लिया था।  उनकी खुदकुशी की खबर से पूरा पुलिस महकमा सन्न रह गया। 
 
मूल रुप से पटना के रहने वाले 48 वर्षीय साहनी ने यूपी पुलिस में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभाई। साहनी की आम शोहरत एक बेहद ईमानदार और कर्मठ अफसर के रुप में होती है। 
उनकी आत्महत्या की पहेली अभी भी अबूझ बनी हुई है। हर कोई ये जानना चाहता है कि क्या यूपी पुलिस अपने इस जांबाज अफसर की खुदकुशी के रहस्य से पर्दा उठा सकेगी? 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार