इस बार फरवरी में होंगी यूपी बोर्ड परीक्षाएं, ब्लैक लिस्टेड कॉलेजों में नहीं बनेंगे केन्द्र

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार राज्य की शिक्षा व्यवस्था को भी ट्रैक पर लाने के प्रयासों में जुटी हुई। सरकार ने इस दिशा में एक और नया प्रयोग करते हुए इस बार फरवरी में बोर्ड परीक्षाएं संपन्न कराने का ऐलान किया है। इसके लिये कई नये निर्णय भी सरकार द्वारा लिये गये हैं। डाइनामाइट न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट...

फाइल फोटो
फाइल फोटो

लखनऊ: यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट-2019 की परीक्षायें इस बार समय से पहले फरवरी में ही आयोजित की जायेंगी। इसके लिये अगले एक हफ्ते में परीक्षा का टाइम टेबल भी जारी कर दिया जायेगा। डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि फरवरी में ही परीक्षा संपन्न हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: यूपी के शिक्षा विभाग में भारी फेरबदल, 26 शिक्षा अधिकारियों के हुए तबादले, सात जिलों के बीएसए बदले 

बोर्ड परीक्षाओं के बारे में जानकारी देते हुए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि इस बार ब्लैक लिस्टेड वाले कॉलेजों को किसी भी कीमत पर परीक्षा केन्द्र नहीं बनाया जायेगा।

विधान भवन में आयोजित की गयी बैठक में डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि सभी परीक्षा केन्द्रो पर सीसीटीवी कैमरों के साथ में वायस रिकार्डर भी लगाये जायेंगे, जिससे परीक्षायें सभी केंद्रों पर एक अच्छे माहौल में करायी जा सकेंगी। साथ ही प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती की जायेगी।

यह भी पढ़ें: लखनऊ के मरीज अब एयर एंबुलेंस से पहुंच सकेंगे दिल्ली-मुंबई 

दिनेश शर्मा ने साथ में सभी स्कूल कॉलेजों का निर्देश दिया कि सभी विद्यालय पाठ्यक्रम को पूरा करें साथ ही जो विद्यालय लापरवाही करते दिखाई दें उन्हें चिन्हित किया जाये।

डॉ. दिनेश शर्मा ने बैठक में यह भी कहा कि परीक्षा केंद्रों का निर्धारण कक्ष क्षमता के अनुसार ही किया जाये। उसी के अनुसार परीक्षार्थी आवंटित किए जाएं। वहीं एक ही सोसाइटी या प्रबंधन के विद्यालयों के विद्यार्थियों को उनके ही विद्यालयों में परीक्षा केंद्र नहीं दिया जाए।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार