लखनऊ: स्टाफ नर्सों ने नियुक्ति की मांग को लेकर स्वास्थ्य भवन का किया घेराव

डीएन संवाददाता

राजधानी में स्टाफ नर्स पद पर नियुक्ति की मांग को लेकर महिला अभ्यार्थियों ने स्वास्थ्य भवन का घेराव किया। वहीं प्रदर्शन कर अभ्यार्थियो ने मांग उठाई की उत्तर प्रदेश स्टाफ नर्स की रिक्तियों पर स्टाफ नर्सों की तैनाती की जाये। डाइनामाइट न्यूज की रिपोर्ट..


लखनऊ: राजधानी स्थित स्वास्थ्य भवन पर आज सैकड़ों की  संख्या में  मौजूद महिला अभ्यार्थियों ने सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। वंही प्रदर्शन कर रही नर्सों बताया कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा स्टाफ नर्स की रिक्त पदों पर पिछले साल लिखित परीक्षा करायी गयी। जिनमें 2388 स्टाफ नर्सो को चयनित किया।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: सीएम योगी से मिलने की जिद पर अड़ी महिलाओं ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर जमकर किया हंगामा 

स्टाफ नर्स की नियुक्ति की मांग को लेकर प्रदर्शन करती महिला अभ्यर्थी

नर्सों ने बताया की इन कुल नर्सों में स्वास्थ्य सेवाओं के अंतर्गत 1830 व चिकित्सा शिक्षा में विभाग में  558 नर्सों को चयनित किया गया था। मगर 1830 में से 419  नर्सों की  तैनाती कर दी गई। जबकि बचे 1650 नर्सों की तैनाती अभी तक नहीं की गई।  साथ ही कहा कि 2016 में कोर्ट द्वारा नर्स का एग्ज़ाम देने के लिए हाईस्कूल की परीक्षा में साइन्स होना अनिवार्य कर दिया गया था, लेकिन ये आदेश 2016 से पहले के अभ्यार्थियों  पर भी लागू नहीं होता है।

यह भी पढ़ें: सपा नेताओं ने विधानसभा के सामने कानून व्यवस्था को लेकर किया जोरदार प्रदर्शन 

प्रदर्शन में  मौजूद महिला अभ्यर्थी अस्मिता राय ने बताया कि इन बचे हुए पदों पर नियुक्ति की मांग को लेकर पिछले दो महिने से स्वास्थ्य भवन का  चक्कर लगा रहे पर अभी तक स्वास्थ्य विभाग द्वारा हमारी मांग पर कोई अमल नहीं किया गया।

यह भी पढ़ें: प्रतिबंध के विरोध में ई-रिक्शा चालकों ने विधानसभा के सामने किया प्रदर्शन 

जब वह अपनी मांग  स्वास्थ्य विभाग के आधिकारियों से की जाती है तो कोई न कोई बहाना बताकर हमारी मांग को नजरअंदाज कर दिया जाता है। मांग को लेकर बताया कि रिक्त स्टाफ नर्स पदों पर नियुक्ति की जाए। साथ ही बिना किसी जनपद चुनाव के किसी भी जिले में  अतिशीघ्र  नियुक्ति दी जाय बताया कि यदि हमारी मागों  पर जल्द अमल नहीं किया गया तो हम सभी नर्सेज शासन के खिलाफ न्यायालय में  जाने के लिये बाध्य होंगी।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार