लखनऊ: शिवसेना ने दिखाई आंख, कहा- राम मंदिर का वादा पूरा करे मोदी सरकार

डीएन संवाददाता

शिवसेना ने फिर एक बार केंद्र की मोदी सरकार सरकार को चेतावनी देते हुए अयोध्या में रामलला का भव्य मंदिर बनाने के लिए संसद में कानून बनाने की मांग की। डाइनामाइट न्यूज की इस स्पेशल रिपोर्ट में पढ़ें, क्या बोली शिव सेना..


लखनऊ: शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का मामला कोर्ट के माध्यम से हल नहीं हो सकता। साथ ही कोर्ट का फैसला लोग नहीं मानेंगे, क्योकिं यह आस्था से जुड़ा मामला है। ऐसे में अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए केंद्र सरकार को संसद में कानून बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब तीन तलाक और एससी-एसटी पर सरकार अध्यादेश लाकर कानून बना सकती है तो राम मंदिर मामले में भी सरकार अध्यादेश ला सकती है।

यह भी पढ़ें: अब UPTET की परीक्षा 4 नवंबर की जगह 18 नवंबर को.. पूरा विवरण डाइनामाइट न्यूज़ पर 

 

राऊत ने कहा कि यदि केंद्र सरकार अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए संसद में कानून बनाए तो शिवसेना सरकार का पूरा समर्थन करेगी। वहीं डीजल पेट्रोल के बढ़ते दामों को लेकर उन्होंने कहा कि डीजल पेट्रोल की महंगाई से जनता बेहद परेशान है और इस बारे में भी सरकार को कोई फैसला लेना चाहिए।

यह भी पढ़ें: लोहिया की पुण्यतिथि पर बोले अखिलेश यादव- कोई भी समाजवादी व्यक्ति जातिवादी नहीं हो सकता

एनडीए में शामिल रहकर सरकार पर जुबानी हमले करने की बात पर बोलते हुए शिवसेना प्रवक्ता ने कहा कि सरकार में शामिल रहकर यदि हम राम मंदिर बनाने के लिए सरकार पर दबाव डालते हैं तो यह राष्ट्र के हित में किया जा रहा है। अयोध्या में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के दर्शन करने के बारे में बताते हुए संजय राऊत ने कहा कि नवंबर के अंतिम सप्ताह या दिसंबर के पहले सप्ताह में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या पहुंचकर रामलला के दर्शन करेंगे।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …