अब UPTET की परीक्षा 4 नवंबर की जगह 18 नवंबर को.. पूरा विवरण डाइनामाइट न्यूज़ पर

डीएन ब्यूरो

यूपी में प्रस्तावित टीईटी परीक्षा समेत शिक्षा सुधार को लेकर सीएम योगी ने शुक्रवार को शास्त्री भवन में सूबे के उच्चाधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। जिसके बाद टीईटी की परीक्षा तिथि को बदलने समेत कई अहम निर्णय लिये गये। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में जानिये क्या-क्या फैसले लिये गये इस बैठक में..

प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय और अपर मुख्य सचिव प्रभात कुमार, शिक्षा विभाग
प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय और अपर मुख्य सचिव प्रभात कुमार, शिक्षा विभाग

लखनऊः बीटीसी परीक्षा पेपर लीक होने समेत टीईटी की प्रस्तावित परीक्षा और शिक्षा सुधार को लेकर सीएम योगी ने शुक्रवार को शास्त्री भवन में सूबे के उच्चाधिकारियों के साथ अहम बैठक की। इस बैठक के बाद यूपी में 4 नवंबर को होने वाली यूपीटीईटी परीक्षा की तिथि को बदलने का ऐलान किया गया। अब यह परीक्षा 18 नवंबर को होगी।

इस महत्वपूर्ण बैठक में बैठक में आगामी शिक्षक भर्ती से जुड़ी तिथियों में भी बदलाव करने का निर्णय लिया गया। जिसकी घोषणा बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रभात कुमार ने की है।   

यह भी पढ़ेंः गोरखपुर: सीएम योगी से मिलने जा रही बीटीसी छात्राओं पर जबरदस्त पुलिसिया अत्याचार

 

 

 

क्या बोले अपर मुख्य सचिव.. 

अपर मुख्य सचिव प्रभात कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बैठक में इस बात पर जोर दिया कि पेपर लीक होने से जिस किसी भी अभ्यर्थी को नुकसान पहुंचा है उसे दूर किया जायेगा। बैठक के दौरान बेसिक शिक्षा विभाग में पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी।    

यह भी पढ़ेंः लखनऊ: योगी सरकार के खिलाफ शिक्षक अभ्यर्थियों में भारी गुस्सा, जबरदस्त प्रदर्शन, घेराव

 

बैठक के बाद बाहर आते यूपी डीजीपी ओपी सिंह 

 

अब 18 नवंबर को होगी टीईटी की परीक्षा

साथ ही बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने बताया की टीईटी की परीक्षा जो 4 नवंबर को होनी थी वह अब 18 नवंबर को होगी। वहीं 11 से 25 दिसंबर तक अगली शिक्षा भर्ती परीक्षा रजिस्ट्रेशन ओपन कर दिया जाएगा व 6 जनवरी को भर्ती परीक्षा की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन पदों पर रिक्तियां है उन्हें जल्द से जल्द भरा जायेगा।

 

 

हालांकि एसटीएफ को बेसिक शिक्षा विभाग भर्ती परीक्षा में हुई गड़बड़ी की जांच का जिम्मा कल ही सौंपा गया है। बेसिक शिक्षा विभाग की भर्ती परीक्षा में हुई गड़बड़ी में मुख्य जोर इस बात पर रहा कि प्रिंटिंग प्रेस जहां भर्ती परीक्षा से जुड़े प्रश्न पत्र छपा फिर रास्ते से लेकर परीक्षा केंद्र तक की सभी कड़ियों पर जांच चल रही है।   

यह भी पढ़ेंः गोरखपुर विश्वविद्यालय में चुनाव को लेकर जब छात्रों ने वीसी से की ये हरकत


पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने सौंपी सीएम को रिपोर्ट

 पेपर लीक की जांच में एसटीएफ को लगाया गया था। जिसमें एसटीएफ ने रिपोर्ट दी है और मुख्यमंत्री ने इसमें शामिल लोगों की गिरफ्तारी करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उनकी कुर्की भी की जा सकती है। अगर कोई गैंग पकड़ा जाएगा तो उस पर जरूरत होने पर एनएसए की कार्रवाई भी की जायेगी। 

मुख्यमंत्री के साथ हुई इस बैठक में मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय, प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार, डीजीपी ओपी सिंह, एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री आदि मौजूद रहे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार