गोरखपुर: सीएम योगी से मिलने जा रही बीटीसी छात्राओं पर जबरदस्त पुलिसिया अत्याचार

डीएन संवाददाता

सीएम योगी के शहर में रहते हुए पुलिस ने छात्राओं पर जिस तरह से अत्याचार किये, उसको लेकर बीटीसी प्रशिक्षुओं में काफी आक्रोश है। प्रदर्शनकारियों का दोष केवल इतना थी, वह अपनी मांगों के संबंध में सीएम योगी से मिलकर बातचीत करना चाहती थीं। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


गोरखपुर: सीएम योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर प्रवास के दौरान बीटीसी की महिला उम्मीदवार बुधवार को शहर की सड़कों पर उतरे और परीक्षा रद्द किये जाने के खिलाफ जमकर प्रदर्शन कर किया। प्रदर्शनकारी छात्राओं गोरखनाथ मंदिर जाकर सीएम योगी से मिलना चाहते थे लेकिन पुलिस ने पानी की बौछारें करके प्रदर्शनकारियों को रोक दिया। इस दौरान पुलिस से तीखी झड़पे भी हुई। पुलिस से झड़प के कारण एक महिला प्रशिक्षु घायल हो गयी।

 

 

महिला प्रशिक्षु बीटीसी की निरस्त गयी परीक्षा को एक सप्ताह के भीतर कराने और  नवंबर महीने में प्रस्तावित टीईटी परीक्षा की तिथि एक महीने आगे बढ़ाने की मांग कर रही थीं। इसी मांग को लेकर महिला प्रशिक्षु जुलूस की शक्ल में गोरखनाथ मंदिर में सीएम योगी से मिलने जा रही थीं लेकिन पुलिस ने उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया। पुलिस द्वारा रोके जाने पर महिला प्रशिक्षु सड़क पर ही बैठकर नारेबाजी और प्रदर्शन करने लगे और सीएम योगी से मिलने की जिद पर अड़े रहे।

 

 

जिद पर अड़े महिला प्रशिक्षुओं पर पुलिस ने जमकर पानी की बौछार की। लेकिन इसके बाद भी महिला प्रशिक्षु टस से मस नहीं हुईं। इसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत की। लगभग एक घंटे की बातचीत के बाद पुलिस ने छात्राओं के प्रतिनिधिमंडल को मुख्यमंत्री से मिलवाने के आश्वासन दिया। जिसके बाद महिला प्रतिनिधिमंडल योगी से मिलने के लिये गोरखपुर मंदिर रवाना हुए।

 

 

पुलिस के झड़प के दौरान डायट की एक प्रशिक्षु पिंगला कन्नौजिया के पैर में चोट भी आई है। पुलिस के रवैये को लेकर महिला प्रशिक्षुओं में काफी नाराज़गी रही।  
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …