डॉक्टरों के लिए खुशखबरी.. अब 62 की जगह 70 साल पर होगी सेवानिवृत्ति

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश में अब डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की आयु को 62 से बढ़ाकर 70 साल किए जाने पर मोहर लगनी तय मानी जा रही है। यह प्रस्ताव कैबिनेट के सामने रखा जाएगा। डाइनामाइट न्यूज़ की विशेष रिपोर्ट..

चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह (फाइल फोटो)
चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह (फाइल फोटो)

लखनऊः प्रदेश में डॉक्टरों की कमी को देखते हुए अब डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की आयु 70 वर्ष करने का प्रस्ताव कैबिनेट के सामने रखा जा रहा है। इसके साथ ही यह भी निर्णय लिया जाएगा कि डॉक्टर 62 साल की सेवा पूरी करने के बाद स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) ले सकते हैं।       

यह भी पढ़ेंः राजस्थान का CM तय..राहुल गांधी ने सचिन नहीं अशोक गहलोत को सौंपी कमान

  

डॉक्टरों के लिए खुशखबरी (सांकेतिक तस्वीर)

 

यह बात वीरवार को चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने आईआईएम रोड स्थित डूडा कॉलोनी में संत रविदास नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (अर्बन पीएचसी) के लोकार्पण के मौके पर कही। चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हम और चिकित्सालय खोलना चाहते हैं लेकिन केवल ढांचा नहीं खड़ा करना चाहते। इसलिए यहां डॉक्टरों की कमी को दूर करने की कोशिश की जा रही है।         

यह भी पढ़ेंः बैंक विलय के विरोध में 26 दिसंबर को कर्मचारियों की हड़ताल.. ग्राहकों को झेलनी पड़ेगी परेशानी

 

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (फाइल फोटो)

 

यह भी पढ़ेंः यूपीः पटरी से उतरे मालगाड़ी के दो डिब्बे..रेलवे अधिकारियों के फुले हाथ-पांव

अगर अस्पतालों में दवाओं की कमी है तो इसकी लिखित सूचना दें। इसे भी दूर करने का प्रयास किया जाएगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ की हड्डी हैं। जिस पर ध्यान देना जरूरी था। इसलिए लखनऊ की दो अन्य अर्बन पीएचसी को टेलीमेडिसिन से जोड़ा जाएगा। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार