लखनऊः मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक में सुलझे ये 17 मसले, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने की अध्यक्षता

डीएन ब्यूरो

चार राज्यों के बीच जल,संसाधन समेत तमाम मुद्दों को लेकर मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक सोमवार को लखनऊ में हुई। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत इन तीनों राज्यों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में सुलझाए ये महत्वपूर्ण मुद्दे। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट


लखनऊः चार राज्यों के बीच में संसाधनों को लेकर आज यानी सोमवार को मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक का आयोजन उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में किया गया। बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने की। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, छत्तीसगढ़ से गृहमंत्री रामसेवक व मध्यप्रदेश से गृह एवं परिवहन मंत्री भूपेंद्र सिंह बैठक में मौजूद रहे।   

यह भी पढ़ेंःदो दिवसीय दौरे पर अमेठी पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, हुआ जोरदार स्वागत

इस मौके पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने चारों राज्यों के मसलों पर गहनता से विचार-विमर्श किया और जिसमें जल संसाधन व विद्युत संसाधनों पर चर्चा हुई। बैठक में 12 मुद्दों पर सभी मंत्रियों व प्रतिनिधियों में आपस में बातचीत हुई वहीं इन चारों राज्यों के बीच 22 मामलों में से 17 को बैठक में सुलझाया गया जबकि 3 पर दिशा-निर्देश दिए गए वहीं 2 ऐसे मुद्दे थे जिन पर फिर से पुर्नविचार किया जाएगा।   

 

सीमा सुरक्षा पर राजनाथ सिंह ने चारों राज्यों के प्रतिनिधियों से किया विचार-विर्मश

इस मौके पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सीमा सुरक्षा को लेकर भी इन सभी राज्यों के प्रतिनिधियों से बातचीत की। राजनाथ सिंह ने कहा कि इन सभी प्रदेशों के बीच 680 ऐसे मामले थे जिन पर सवा चार साल के अंदर विचार किया जाना था। जिसमें से आज 428 मसलों को केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों के साथ मिलकर आपसी बातचीत के जरिए सुलझा लिया है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मौके पर पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। 

यह भी पढ़ेंः सीएम योगी ने गोरखपुर को दी 87 करोड़ रूपये की परियोजनाओं का तोहफा

जम्मू-कश्मीर का मसला भी जल्द सुलझेगाःराजनाथ सिंह

उनसे जब कश्मीर मसले को लेकर पूछा गया तो राजनाथ सिंह ने कहा कि हम देश को आश्वस्त करना चाहते हैं कि कश्मीर के मुद्दे को भी जल्द सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कश्मीर में तैनात अर्धसैनिक बल जिसमें सीआरपीएफ प्रमुख है की तारीफ करते हुए कहा कि सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के बीच बेहतर तालमेल व सांमजस्य के कारण यहां शांति बहाली कायम हुई है। इस मौके पर जब डाइनाइट न्यूज़ के संवाददाता ने एससी/एसटी एट्रोसिटी एक्ट को लेकर पूछा तो गृह मंत्री ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और इस मुद्दे को वह टाल गए।

यह भी पढ़ेंः लखनऊः तो पुलिस महकमे में की जा रही है अधिकारियों के फेरबदल की तैयारी!

राफेल विमानों की खरीद-फरोख्त को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने पर राजनाथ सिंह ने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद इस पर स्पष्ट कर चुके है। बावजूद राहुल गांधी इसे जबरदस्ती 2019 में लोगों का ध्यान भटकाने के लिए चुनावी मुद्दा बनाने में तुले पड़े है।








संबंधित समाचार