देखें वीडियो, लखनऊ में बीच सड़क पर चाकू बांधकर नमाज पढ़ने वाले मौलाना ने पेश की सफाई

डीएन संवाददाता

लखनऊ में एनेक्सी के बाहर चाकू रखकर बीच सड़क पर नमाज पढ़ने वाले मौलाना ने डाइनामाइट न्यूज़ से बातचीत में अपनी सफाई पेश की। डाइनामाइट न्यूज़ की इस एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में पढ़ें इस मामले पर आखिर क्या बोले मौलाना..


लखनऊ: सचिवालय एनेक्सी के बाहर चाकू खोंसकर बीच सड़क पर  नमाज पढ़ने वाले आरोपी रफीक अहमद पर पुलिस गिरफ्तारी की तलवार लटक गयी है। पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से आरोपी मौलाना को ढूंढ निकाला हैं। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने हजरतगंज पुलिस को एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। इस मामले में घटना के वक्त ड्यूटी कर रहे आरक्षी मनोज और ट्रैफिक आरक्षी आनंद प्रकाश को निलंबित कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: CM सचिवालय के बाहर बुजुर्ग का हंगामा, पहले पढ़ी नमाज फिर लगाये योगी-मोदी हाय हाय के नारे 

 

 

सड़क पर वाहनों की लम्बी कतारें

पुलिस के मुताबिक शुक्रवार देर शाम करीब आठ बजे एक शख्स लाल रंग की स्कूटी पर सवार होकर एनेक्सी के गेट नंबर-1 के पास पहुंचा। इसके बाद उसने डिवाइडर लाइन पर मुसल्ला बिछाया और नमाज पढ़ने लगा। मौलाना ने नमाज के दौरान केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। आरोपी के बीच सड़क पर नमाज पढ़ने से सड़क पर दोनों तरफ जाम लग गया। इसमें कई अधिकारियों और राजनेताओं के वाहन जाम में फंस गए। देखते ही देखते सड़क पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गई। 

यह भी पढ़ें: ..तो क्या लखनऊ को दहलाने की हुई थी साजिश..भारी मात्रा में कारतूस और बंदूकें बरामद 

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

घटना के वक्त एनेक्सी गेट के आसपास कई पुलिस कर्मी मौजूद थे। मगर किसी ने भी मौलाना को नहीं रोका। एनेक्सी के बाहर नारेबाजी करने वाला यह शख्स कमर में गमछा बांधे हुए था, जिसमें उसने चाकू भी खोंस रखा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, जाम में फंसे बाइक सवार दो युवकों ने पास खड़े ट्रैफिक सिपाहियों को चाकू के बारे में बताया। इस पर सिपाहियों ने आगे बढ़कर आरोपी की कमर पर चाकू बंधा देखा। लेकिन सिपाहियों ने पूछताछ करने के बजाए मुंह फेर लिया। पुलिस का लचर रवैया देख लोगों ने सिरफिरे की इस हरकत की वीडियो बनाई और सोशल मीडिया पर जारी कर दी। कुछ ही देर में यह वीडियो वायरल हो गया।

यह भी पढ़ें: लखनऊ में बढ़ते अपराधों ने उड़ाई DGP की भी नींद, पुलिस मुस्तैदी जांचने के लिये नहीं सोये रात भर 

अराजकता फैलाने का मुकदमा दर्ज 

मामले की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी सकते में आ गए। सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा मौके पर पहुंचे लेकिन तब तक आरोपी जा चुका था। लखनऊ  के एएसपी सर्वेश कुमार मिश्रा के अनुसार, एनेक्सी के बाहर रोड जाम करके अराजक गतिविधि करने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और पब्लिक प्लेस में अराजकता फैलाने सहित 342 का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की गई है। हैरत की बात यह है कि हाई सिक्योरिटी जोन में कमर में चाकू बांधकर आया आरोपी सिपाहियों की मौजूदगी में आसानी से फरार हो गया। जबकि, लखनऊ पुलिस को इसकी कानों-कान भनक तक नहीं लगी। बाद में सोशल मीडियो पर इसका वीडियो वायरल होने से अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए।

जल विभाग में नौकरी भी कर चुका है आरोपी 

एसपी ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि मानसिक रूप से बीमार रहने के कारण उसने ऐसी हरकत की है। पहले वह जल विभाग में नौकरी भी कर चुका है। वहीं उन्होंने बताया कि सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से उसकी पड़ताल की गई। मामले में लापरवाही उजागर होने पर दो सिपाहियों को निलम्बित किया गया है।

आरोपी बोला- नमाज नहीं पढ़ने दी जाती 

हजरतगंज कोतवाली में आरोपी मौलाना रफीक अहमद ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मुझे नमाज नहीं पढ़ने दिया जाता है। जिससे मैंने आहत होकर वहां पर नमाज पढ़ी। उसने बताया कि हमारी मांग है कि योगी सरकार ने गौ हत्या पर रोक लगाई है। लेकिन कुछ मुसलमान भाई हिंदू भाई गाय की हत्या कर रहे हैं, जिसके मैं खिलाफ हूं। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …