आजमगढ़ में मनाया गया पत्रकारिता दिवस, भड़ास के संस्थापक यशवंत सिंह रहे मुख्य वक्ता

प्रवीण टिबड़ेवाल

हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर आजमगढ़ जिले में राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसके मुख्य वक्ता देश के जाने-माने पत्रकार व भड़ास 4 मीडिया के संस्थापक यशवंत सिंह रहे।

गोष्ठी में मंचासीन अतिथिगण व मुख्य वक्ता यशवंत सिंह
गोष्ठी में मंचासीन अतिथिगण व मुख्य वक्ता यशवंत सिंह

आजमगढ़: 30 मई यानि हिंदी पत्रकारिता दिवस का दिन आजमगढ़ व आसपास के जिलों के पत्रकारों के लिए ख़ास रहा। आजमगढ़ पत्रकार परिसंघ की ओर से हिंदी पत्रकारिता दिवस पर एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। 

दीप प्रज्ज्वलन का दृश्य

"पत्रकारिता के बदलते आय़ाम और चुनौतियां" विषय पर आयोजित इस संगोष्ठी के मुख्य वक्ता नई दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार व भड़ास 4 मीडिया के संपादक यशवंत सिंह रहे। 

कलेक्ट्रेट सभागार में मौजूद पत्रकारों को संबोधित करते हुए यशवंत सिंह ने कहा कि पत्रकारों के समक्ष तमाम चुनौतियां हैं और इनका डटकर हम सभी को मुकाबला करना होगा। इसके लिए सबसे आवश्यक है कि पत्रकार एक-दूसरे के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहे। विज्ञापन के इस युग में निष्पक्ष पत्रकारिता करना हम सबके लिए एक बड़ी चुनौती है।

मंचासीन वरिष्ठ पत्रकार यशवंत सिंह व अन्य अतिथि

कार्यक्रम के संयोजक पत्रकार अरविंद कुमार सिंह ने अतिथियों का स्वागत किया। संगोष्ठी को महात्मा गांधी विद्यापीठ के निदेशक ओमप्रकाश सिंह, समाजवादी चिंतक विजय नारायण, राज्य उपभोक्ता आय़ोग के पूर्व अध्यक्ष डा. चंद्रभाल श्रीवास्तव, तमसा प्रेस क्लब के सचिव विजय यादव ने भी संबोधित किया। 

कार्यक्रम के आय़ोजन में जर्नलिस्ट क्लब,तमसा प्रेस क्लब, श्रमजीवी पत्रकार यूनियन एवं ग्रामीण पत्रकार यूनियन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। 

इस अवसर पर डाइमानाइट न्यूज़ आजमगढ़ के जिला प्रभारी प्रवीण टिबड़ेवाल, सुभाष चंद्र सिंह, आशुतोष द्विवेदी, सतीश रघुवंशी, शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी, स्वरमिल चंद्रा, शिवानंद सिंह, अशोक वर्मा, मो. असलम, रमेश सिंह आदि पत्रकार बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …