एटाः दहेज की शिकायत पर पूछताछ करने पहुंची पुलिस की धुनाई..दरोगा समेत 3 घायल

डीएन संवाददाता

यूपी के एटा में जसरथपुर थाना क्षेत्र के नगला जई दहेज की शिकायत पर पूछताछ के लिये पहुंची पुलिस की आरोपियों और ग्रामीणों ने जमकर धुनाई की। सूचना पाकर जब आनन- फानन में दूसरे थानों की पुलिस फोर्स यहां पहुंची तो आरोपी मौके से फरार हो गये। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें क्या है पूरा मामला


एटाः जसरथपुर थाना क्षेत्र के नगला जई में दहेज प्रताड़ना की शिकायत पर पहुंची पुलिस टीम पर आरोपियों और ग्रामीणों ने लाठी-डंडों से जमकर पिटाई कर दी जिसमें दारोगा समेत तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गये। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गये। पुलिस टीम पर लाठी-डंडों से हमले के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गयी और मौके पहुंची कई थानों के पुलिस बल ने उन्हें वहां ने निकालकर अलीगंज सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र में भर्ती कराया जहां घायल पुलिसकर्मियों का उपचार चल रहा है।           

यह भी पढ़ेंः UP: छात्रा ने सड़क पर दरोगा को जड़ा झन्नाटेदार थप्पड़, फाड़ी वर्दी.. VIDEO वायरल  

 

 

 

 

बताया जा रहा है कि देर रात थाना जसरथपुर में फर्रुखाबाद के थाना मीरपुर निवासी दिनेश कुमार ने नगला जई निवासी पति और ससुरालीजनों द्वारा उसकी बेटी को दहेज उत्पीड़न को लेकर उसके पति नरेन्द्र समेत 5 ससुरालीजनों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। मामले की जांच के लिए थाना जसरथपुर से दारोगा सुरेश सिंह सिपाही विजय सिंह, सिपाही हरेन्द्र कुमार और एक होमगार्ड के साथ जब कल देर रात पुलिस टीम आरोपी के घर पहुंची तो पुलिस टीम को देखते ही पहले से ही लाठी-डंडों से लैस आरोपियों और ग्रामीणों ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया और उनकी जमकर पिटाई कर दी।      

यह भी पढ़ेंः 10 साल की मासूम को भी नहीं छोड़ रहे दरिंदे.. बच्चियां जायें तो जायें कहां?  

 

  

गांव में पुलिस बल पर हमला

 

यह भी पढ़ेंः महराजगंजः VIDEO में देखिये.. बांस की झाड़ियों में अजगर को लोट- पोट होते देख कैसे उड़े लोगों के होश  

पुलिस टीम पर हमले की सूचना मिलते ही जब आनन- फानन में कई थानों का पुलिस बल जब गांव में पहुंचा तो तब तक आरोपी मौके से फरार हो गये। गंभीर रूप से घायल दारोगा समेत तीन पुलिस कर्मियों को उपचार के लिए अलीगंज के सीएचसी में भर्ती कराया गया है। वहीं घटना के बाद पुलिस टीम पर हमले को लेकर पुलिस ने आरोपियों समेत डेढ़ दर्जन से ज्यादा लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने घटना में शामिल दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि मुख्य आरोपी नरेन्द्र अभी भी फरार है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार