राष्ट्रीय खेल दिवस पर विशेष: खिलाड़ियों के वे कारनामे जो रखे जाएंगे हमेशा याद..

डीएन ब्यूरो

दुनिया में ‘हॉकी के जादूगर’ के नाम से मशहूर मेजर ध्यानचंद की जयंती के मौके पर 29 अगस्त को हर साल भारत राष्ट्रीय खेल दिवस मनाता है। हाकी भारत का राष्ट्रीय खेल भी है लेकिन क्रिकेट के ग्लेमर में हाकी अब खोने सी लगी है। आज भारत के खिलाड़ी हर खेल में अपना दबदबा बनाये हुए है, जाने खिलाड़ियों के वे कारनामे जिन्हें हमेशा रखा जायेगा याद।। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव खबर

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्लीः आज 29 अगस्त भारत के खेल प्रेमियों और खिलाड़ियों के लिए खास है, क्योंकि आज राष्ट्रीय खेल दिवस है। एक तरफ इंडोनेशिया के जकार्ता में खेले जा रहे 18वें एशियन गेम्स में भारतीय खिलाड़ी विभिन्न खेल स्पर्धाओं में अपने बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत भारत का नाम रोशन कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ इंग्लैंड में भारतीय क्रिकेट टीम भी विपक्षी टीम के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं। 

खेल दिवस के मौके पर डाइनामाइट न्यूज़ यहां पेश कर रहा है खेलों से जुड़ी कई दिलचस्प बातें, जो आपने पहले नहीं सुनी होंगी।

 

 

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों को दी राष्ट्रीय खेल दिवस पर बधाई

इसलिए मनाया जाता हैं राष्ट्रीय खेल दिवस

दुनिया में ‘हॉकी के जादूगर’ के नाम से मशहूर मेजर ध्यानचंद की जयंती के मौके पर 29 अगस्त को हर साल भारत राष्ट्रीय खेल दिवस मनाता है। मेजर ध्यानचंद ने भारत को 3 ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक दिलाया था। आज उनका 114वां जन्मदिन है। 

राष्ट्रीय खेल हॉकी पर बहुचर्चित हुआ किक्रेट 

मेजर ध्यानचंद की बदौलत ही हॉकी के खेल को आजादी के बाद भारत का राष्ट्रीय खेल घोषित किया गया। लेकिन सरकारों द्वारा इस खेल पर ध्यान न देने और खिलाड़ियों सपोर्ट नहीं मिलने से हॉकी का स्तर गिरता गया और इसकी जगह ले ली चमक व धमक वाले खेल किक्रेट ने। आज पूरी दुनिया में भारतीय किक्रेट खिलाड़ियों की तूती बोलती है। 

किक्रेट खिलाड़ियों के कारनामे

1. कोहली का विराट रूपः भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को लेकर कहा जाता हैं कि बहुत जल्द ही विराट किक्रेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर के रनो के अंबार का रिकार्ड तोड़ देंगे। 29 वर्षीय इस खिलाड़ी ने अब तक 69 टेस्ट मैचों में 23 शतक और 18 अर्धशतकों की बदौलत 5994 बनाए हैं। वहीं वनडे में 211 मैचों में 9779 रन बनाए हैं जिनमें 35 शतक और 48 अर्धशतक शामिल है। 

2. जब आपस में भिड़े खिलाड़ी: आईपीएल में खेलने वाले गौतम गंभीर न सिर्फ विराट कोहली से भिड़ चुके हैं बल्कि। अपने जूनियर के खिलाफ यह कई बार आपा खो बैठे हैं। वहीं आईपीएल के एक मैच में गंभीर और मनोज तिवारी आपस में भिड़ गए। यहीं नहीं गंभीर ने इस मैच में मनोज तिवारी को कहा कि शाम को मिल तुझे मारूंगा। 

यह भी पढ़ें: एशियन गेम्स में तीन गोल्ड से चूका भारत, तीन सिल्वर से ही होना पड़ा संतोष

 

3. हरभजन सिंह ने जब जड़ा थप्पड़ः भारतीय किक्रेट टीम में टर्बनेटर के नाम से मशहूर भज्जी का गुस्सा कब किस तर फूटे यह कोई नहीं जानता। 2008 में आईपीएल के एक मैच जो किंग्स इलेवन पंजाब और मुंबई इंडियन के बीच खेला जा रहा था। इसमें जब बॉलर श्रीसंत अक्रामक हो गए तो हरभजन सिंह को इतना गुस्सा आया कि उन्होंने श्रीसंत को झन्नाटेदार थप्पड़ जड़ दिया। हालांकि बाद में हरभजन सिंह ने इसे अपनी क्रिकेट करियर की सबसे बढ़ी भूल बताया था। 

4. श्रीसंत का करियर चौपटः आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग में फंसे श्रीसंत का तो किक्रेट करियर पूरी तरह से तबाह ही हो चुका है। बीसीआई ने उनके किसी भी अंतरराष्ट्रीय मैच व घरेलू मैच खेलने में पूरी तरह से पाबंदी लगा दी हैं। वहीं वह राजनीति में भी उतरे लेकिन यहां भी कुछ खास नहीं कर पाए। श्रीसंत एक अच्छे डांसर भी हैं आज कल वो डांस के जरिए खुद को इससे उबार रहें हैं। जबकि उनकी इस हरकत ने उन्हें क्रिकेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार