Corona Virus: CAA के विरोध में घंटाघर पर डटी महिलाएं, पीछे हटने को नहीं तैयार

डीएन ब्यूरो

लखनऊ के घंटाघर में आज भी नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं का प्रदर्शन जारी है। इसी बीच कोरोना वायरस के बढते मामलों को लेकर यूपी पुलिस प्रदर्शनकारी महिलाओं को वहां से समझा-बुझाकर हटाने में जुटी है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


लखनऊ:  कोरोना वायरस को लेकर लोगों को भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाना टालने की अपील सरकार की ओर से की जा रही है। आज यूपी कैबिनेट बैठक में  सभी पर्यटक स्थलों को 31 मार्च तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है। साथ ही जनता दर्शन, तहसील दिवस के कार्यक्रमों पर 2 अप्रैल तक रोक लगाई गई है। सभी प्रकार के धरना प्रदर्शनों पर भी पाबंदी लगा दी गई है।

यह भी पढ़ेंः India Fights Corona- यूपी पुलिस को मिली खुली छूट, कोरोना वायरस पीड़ित ने इलाज में बरती लापरवाही तो.. 

इन सबके बीच सीएए कानून के खिलाफ लखनऊ के घंटाघर में महिलाओं के प्रदर्शन को खत्म कराने के लिए यूपी के पुलिस अफसर जुटे हैं। ये जानकारी आईजी एलओ ज्योति नारायण ने पत्रकारों को दी है। उन्होने बताया की फिलहाल तो घंटाघर के प्रदर्शन में शामिल किसी भी महिला में कोरोना वायरस के लक्षण नही मिले हैं। मगर लंबे समय तक भीड़भाड़ होने के कारण कोरोना का खतरा हो सकता है। इसलिए ऐहतियात के तौर पर प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास पुलिस की ओर से किया जा रहा है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार