बहराइच: जरूरतमंदों की ड्यूटी में तैनात इंस्पेक्टर

डीएन संवाददाता

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के इण्डो-नेपाल बॉर्डर रुपईडीहा थाने मे तैनात आलोक राव के चर्चे आजकल जनता के बीच काफी है। अध्यापन का पेशा छोड़कर पुलिस सेवा में आये आलोक राव जरूरतमंदों की मदद करने में जुटे हुए रहते है।

पुलिस इंस्पेक्टर आलोक राव
पुलिस इंस्पेक्टर आलोक राव

बहराइच: उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के इण्डो-नेपाल बॉर्डर रुपईडीहा थाने में तैनात आलोक राव एक ऐसे पुलिस कर्मी है, जो हमेशा जरूरतमंदों का मदद के लिये हर पल तत्पर रहते है। पुलिस लाइन मे आने से पहले आलोक एक टीचर थे। उन्होंने 6 सालों तक टीचिंग का काम किया लेकिन देश, समाज और गरीबों की सेवा के लिये उन्होंने टीचर की नौकरी छोड़ पुलिस की नौकरी शुरू कर दी।

 आलोक जबसे पुलिस में भर्ती हुए है, तब से वे गरीबों के लिए काफी काम कर चुके है। सीमावर्ती थाने का पदभार संभालने के अलावा वह जनसेवा में भी तत्पर रहते हैं। इलाके के लोग आलोक के कार्यो की सराहना करते नही थकते।

डाइनामाइट न्यूज से खास बातचीत के दौरान इंस्पेक्टर आलोक राव ने कहा है, मैं जिस उद्देश्य के लिए पुलिस विभाग में आया हूं उसको बाखूबी निभा रहा हूँ। देश की सेवा, मातृभूमि की रक्षा के साथ ही गरीबों,लाचार और बेसहार के लिए सहारा बनने का कार्य करता हूं। पुलिस और जनता में आपसी समन्वय स्थापित करने के लिए दिन रात मेहनत करता हूं। जनता भी उनके इस भाव तो भलिभांति जानती है और इसी कीरण किसी भी तरह की मदद के लिये आलोक को ही सबसे पहले याद करती है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार