बलरामपुर: जाति आधारित आरक्षण के विरोध में धरना-प्रदर्शन

डीएन ब्यूरो

जिले में आरक्षण मुक्त भारत के बैनर तले देश में वर्तमान आरक्षण का विरोध करते हुए तहसील गेट पर व्यापक धरना-प्रदर्शन और विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसके साथ ही राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया गया। पूरी खबर..


बलरामपुर: जिले में आरक्षण मुक्त भारत के बैनर तले देश में वर्तमान आरक्षण का विरोध करते हुए तहसील गेट पर व्यापक धरना-प्रदर्शन और विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसके साथ ही राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन उपजिलाधिकारी को दिया गया, जिसमें जाति आधारित आरक्षण को खत्म करने की मांग की गयी। 

सभा को संबोधित करते हुए अशोक तिवारी ने कहा कि मनु की व्यवस्था में कार्य के आधार पर वर्ग व्यवस्था बनाई गई। वहीं पूर्व विधायक अशफाक अहमद ने अपने सम्बोधन में कहा कि मुस्लिम वर्ग में भी गरीब हैं, उन्हें भी सहयोग की आवश्यकता है।  डॉ तुलसीश दुबे ने कहा कि अब जाति के आधार पर आरक्षण निष्प्रभावी दिखाई दे रहा है, गरीब का कल्याण नहीं हो रहा है। सामाजिक समरस्ता के लिए आर्थिक आधार पर आरक्षण होना चाहिए जिसका लाभ समाज के प्रत्येक गरीब को मिलना चाहिए। 

इस मौके पर डॉ प्रकाश मिश्र ने कहा कि आरक्षण व्यवस्था की अभी तक कोई समीक्षा नहीं हुई।  इस मंच के माध्यम से हम लोगों द्वारा राजनीतिक प्रतिनिधि मैदान में उतारा जाएगा।  डॉ प्रतीक मिश्रा, सौरभ त्रिपाठी,  वर्षकार कलहंस, अम्बरीष शुक्ल ने अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में डॉ दिव्य दर्शन तिवारी, गौरव सिंह, अजीत शुक्ल, अभय राज सिंह, निशान्त चौहान, सोनू सिंह, अभिषेक कसेरा, स्वामी नाथ सोनकर, विपिन मिश्रा, शशांक श्रीवास्तव, प्रफुल्ल त्रिपाठी, सत्य प्रकाश, धर्मेश दुबे, शुभम् गुप्ता आदि उपस्थित रहे।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …