बलरामपुर: 8 सूत्रीय मांग पूरा न होने तक कार्य बहिष्कार करेंगे लेखपाल

डीएन ब्यूरो

8 सूत्रीय मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट गेट पर बड़ी संख्या में लेखपालों ने धरना प्रदर्शन किया, जिनमें महिला लेखपालों ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। पूरी खबर..

धरना पर बैठे लेखपाल
धरना पर बैठे लेखपाल

बलरामपुर:अपनी  विभिन्न मांगों को लेकर तीन जुलाई से लेखपाल कार्य बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन कर रहे थे। समय के साथ-साथ लेखपालों का धरना उग्र होता जा रहा है। सोमवार को कलेक्ट्रेट गेट पर बड़ी संख्या में लेखपालों ने धरना प्रदर्शन किया, जिनमें महिला लेखपालों ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।

धरना पर बैठी महिला लेखपाल

उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ द्वारा गत 3 जुलाई से चलाए जा रहे कार्य बहिष्कार अब धीरे-धीरे उग्र होता जा रहा है। अभी तक लेखपालों का आंदोलन तहसील स्तर पर सीमित था जो अब जिला मुख्यालय पहुंच चुका है। जिले के तीनों तहसीलों के लेखपाल आज कलेक्ट्रेट गेट पर एकत्रित हुए और वहां पर जमकर नारेबाजी की। लेखपालों का कहना है कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जाती तब तक उनका अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगा। अपनी आठ सूत्री मांगों पर अडिग लेखपाल संघ इससे कम के समझौते के लिए तैयार नहीं है।

 

क्या है लेखपाल संघ की प्रमुख मांगे

लेखपाल संघ के जिला अध्यक्ष कृष्ण कुमार ने बताया कि हमारी 8 सूत्री मांगों में वेतन उच्चीकरण, वेतन विसंगति, पदोन्नति के अवसर, लैपटॉप तथा स्मार्टफोन उपलब्ध कराना, भत्तों में वृद्धि, राजस्व निरीक्षक नियमावली पारित करने, पेंशन विसंगति दूर करने तथा आधारभूत सुविधाओं व संसाधन उपलब्ध कराने की मांग शामिल है। तीनों तहसीलों से जुटे लेखपालों ने कलेक्ट्रेट गेट पर पूरे दिन धरना प्रदर्शन जारी रखा।

 

जिलाधिकारी ने जारी किए निर्देश

जिलाधिकारी कृष्णा करूणेश ने लेखपालों के हड़ताल से आय जाति और निवास प्रमाण पत्र में आ रही समस्या को दूर करने के लिए नायब तहसीलदार तथा कानूनगो को निर्देशित किया है। पूरे मामले पर जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने बताया कि आम जनता को आय जाति निवास प्रमाण पत्र विशेषकर छात्र जिन को विभिन्न कक्षाओं मे प्रवेश प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए प्रमाण पत्रों की आवश्यकता है उन्हें कोई समस्या ना हो इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था कराई जा रही है। अब नायब तहसीलदार व कानूनगो अपने माध्यमों से जांच कराकर आय जाति व निवास प्रमाण पत्र जारी करेंगे। उधर लेखपाल संघ का कहना है हमारी विभिन्न संगठनों से बात हुई है हमारे कार्य को कोई अन्य कर्मचारी नहीं करेगा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार