पुरुषों के वनडे मैच में अंपायरिंग करने वाली प‍हली महिला बनीं क्‍लेयर पोलोसाक

डीएन ब्यूरो

क्लेयर पोलोसक ने कभी क्रिकेट नहीं खेला और कई बार वो अंपायरिंग के एग्जाम में फेल भी हुई, लेकिन अब वो पुरुषों के क्रिकेट मैच में अंपायरिंग कर इतिहास रचने को तैयार हैं। वह शनिवार को वर्ल्ड क्रिकेट लीग के दूसरे डिवीजन के फाइनल में नमीबिया और ओमान के बीच हुए मुकाबले में अंपायरिंग करती नजर आईं।

क्‍लेयर पोलोसाक (फाइल फोटो)

मेलबर्न: आस्‍ट्रेलिया की क्‍लेयर पोलोसाक आज क्रिकेट में बड़ा इतिहास रच दिया है। आज वह आईसीसी वर्ल्‍ड क्रिकेट लीग डिवीजन दो के फाइनल में अंपायरिंग कर रही हैं। इसके साथ ही वह पुरुष वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला अंपायर बन गईं।

इस संबंध में 31 वर्षीय पोलोसाक ने मीडिया से कहा कि मैं पुरुष वनडे मैच में शामिल होने वाली पहली महिला अंपायर बनने के लिए रोमांचित हूं। इससे महिला अंपायरों को बढ़ावा मिलेगा। महिलाएं क्रिकेट में अंपायरिंग नहीं कर सकती हैं इसका महिला होने से कोई संबंध नहीं होता है। आज यह साबित हो गया है।

IPL 2019: अल्जारी जोसेफ की जगह मुंबई इंडियंस ने इस गेंदबाज को टीम में किया शामिल

इसके साथ पोलोसाक महिला क्रिकेट अधिकारियों के लिए नए नियम भी बना रही हैं। वह पहली महिला अंपायर हैं जो महिला क्रिकेट के 15 वनडे मैचों में शामिल रही हैं। इसके अलावा वह इंग्लैंड और भारत के बीच खेले गए आईसीसी महिला टी ट्वेंटी विश्‍व कप 2018 के सेमीफाइनल में बतौर अंपायर मौजूद रही थी। क्‍लेयर 2017 में महिला वनडे वर्ल्ड कप के 4 मुकाबलों में भी अंपायरिंग की जिम्मेदारी निभा चुकी हैं। 

हार्दिक पंड्या बोले-धोनी को हेलीकॉप्टर शॉट खेलने का मेरा तरीका आया पसंद

वह ऑस्ट्रेलिया के घरेलू क्रिकेट में पुरुषों के मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला अंपायर बनी थीं। पिछले साल दिसंबर में क्लेयर और साउथ ऑस्ट्रेलिया की एलोइस शेरीडेन ने महिला बिग बैश लीग में अंपायरिंग की थी।

आईसीसी विश्वकप के लिये भारतीय क्रिकेट टीम की घोषणा 15 अप्रैल को..

यह पहला मौका था जब ऑस्ट्रेलिया में पेशेवर क्रिकेट में दोनों फील्ड अंपायर महिलाएं थीं। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार