अखिलेश यादव का नया फरमान- कुछ इस अंदाज में सपाई घेरेंगे भाजपा को जमीन पर

डीएन संवाददाता

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सपा नेताओ संग बैठक कर जनता के बीच जाकर समाजवादी पार्टी की नीतियों और भाजपा सरकार की गलत नीतियो को जनता तक पहुंचाने का सपा कार्यकर्ताओ से आह्वान किया। डाइनामाइट न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे सभी राजनीतिक पार्टियों अपना अपना चुनावी अभियान तेज करने में लगी है। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भाजपा की हार से उत्साहित समाजवादी पार्टी नया साल शुरू होने के साथ ही जनता के बीच में जाकर भाजपा की गलत नीतियों के बारे में लोगों को बताएगी। इसी बाबत आज समाजवादी पार्टी कार्यालय में अखिलेश यादव के नेतृत्व में एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी तादाद में सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने शिरकत की। जिसमें लोकसभा चुनाव 2019 में अधिक से अधिक सीटें जीतने के लिए चुनावी अभियान पर मंथन किया गया।

यह भी पढ़ें: सपा नेताओं ने विधानसभा के सामने कानून व्यवस्था को लेकर किया जोरदार प्रदर्शन 

 

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार में किसान नौजवान निराश हो चुका है और उसे केवल समाजवादी पार्टी में उम्मीद की किरण ऐसे में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को घर-घर पहुंच कर लोगों से उत्तर प्रदेश सरकार की गलत नीतियों और सपा सरकार के कार्यकाल में किए गए उल्लेखनीय कामों के बारे में जनता को बताना चाहिए।

यह भी पढ़ें: यमुना यादव की पुण्यतिथि पर महराजगंज पहुंचे सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने भाजपा पर बोला हमला

अखिलेश यादव ने एमपी के सीएम कमलनाथ के इस फैसले को बताया गलत 

सपा अध्यक्ष ने कहा कि जिस तरीके से मध्य प्रदेश से उत्तर भारतीय लोगों के साथ भेदभाव किए जाने की खबरें सामने आ रही हैं। यह काफी चिंताजनक है। उत्तर प्रदेश की जनता लोकसभा चुनाव में इसका जवाब जरूर देगी। उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले दिल्ली महाराष्ट्र गुजरात जैसे राज्यों से भी उत्तर भारतीयों के साथ भेदभाव और उत्पीड़न की घटनाएं सामने आई थी। यह निराशाजनक है। इसे रोकने के लिए स्थानीय सरकारों को कदम उठाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: काशी की सड़कों पर कृष्ण रूप में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव 

जनगणना के हिसाब से आरक्षण की उठाई मांग

अखिलेश यादव ने कहा कि जातिगत जनगणना करा कर सभी को आरक्षण देना चाहिए और इसकी मांग समाजवादी पार्टी लंबे समय से उठाती रही है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार