BRD Medical College: आरोपी डाक्टर कफील खान को क्लीन चिट नहीं, मामले की जांच जारी

डीएन ब्यूरो

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में अगस्त 2017 में भर्ती बच्चों की दुखद मौत हुई थी। इस मामले में तत्कालीन प्राचार्य डाक्टर राजीव मिश्र, डाक्टर सतीश कुमार और बाल रोग विशेषज्ञ डाक्टर कफील अहमद खान को आरोपी बनाया गया था। वहीं इस मामले में प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर डाक्टर कफील को क्लीन चिट दिये जाने की खबरों का खंडन किया और कहा की मामले की जांच अभी चल रही है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


लखनऊः प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे ने आज कहा है की गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज मामले में अभी किसी आरोपी को क्लीन चिट नहीं मिली है। प्रमुख सचिव ने कहा की डाक्टर कफील को जांच में प्राइवेट नर्सिंग होम चलाने और ड्यूटी में लापरवाही का दोषी पाया गया है।

यह भी पढ़ें: राजनाथ सिंह के करीबी सुधांशु त्रिवेदी को मिला राज्य सभा का टिकट, सतीश दूबे बिहार से जायेंगे उच्च सदन

साथ ही मेडिकल आक्सीजन न होने की बात आला अफसरों से भी छिपाने का आरोप डाक्टर कफील पर है।जिस वजह से अगस्त 2017 में बड़ा ही दर्दनाक हादसा हुआ। जिसमें असमय मासूमों की मौत हो गई। 

यह भी पढ़ें: राष्ट्रीय मानवाधिकार पहुंचा महराजगंज बस स्टेशन कांड में युवक की मौत का मामला, सख्त कार्यवाही की उठी मांग

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए रजनीश दुबे ने कहा की मामले की जांच के दौरान डाक्टर कफील और उनके परिजन अपने निर्दोष होने संबधी खबरें और वीडियो सोशल मीडिया पर डाल रहे हैं। जो कि असत्य और बेहद आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा की डाक्टर कफील पर कुल 4 आरोप  थे। जिनमें से अभी केवल 2 आरोपों की जांच चल रही है। जबकि 2 में क्लीन चिट दी जा चुकी है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार