पेंशन की लालच में बेटे-बहु बने अंधे.. मां की लाश को 4 महीने तक रखा घर में.. भेद खुला तो मचा हड़कंप

डीएन ब्यूरो

पैसे की लालच इंसान को अंधा बना देती है। कुछ ऐसा ही घटा है वाराणसी में। मां के मरने के बाद भी चार महीने तक लाश को केमिकल लगाकर घर में बेटे और बहुओं ने रख रखा था ताकि मां के नाम पर आने वाली पेंशन मिलती रहे। डाइनामाइट न्यूज़ की खबर के बाद पुलिस हरकत में आयी और चारो तरफ हड़कंप मच गया.. एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


वाराणसी: पांच बेटों की मां अमरावती देवी ने कभी सपने में भी नही सोचा होगा कि उसके मरने के बाद उसकी लाश के नाम पर भी बेटे-बहु पैसे वसूलेंगे।

मौके पर मौजूद लोगों की भीड़

 

मामला भेलूपुर थाना अन्तर्गत दुर्गाकुंड स्थित आवास विकास कॉलोनी का है। डाइनामाइट न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक 70 वर्षीय अमरावती देवी का निधन करीब चार महीने पहले 13 जनवरी को हो गया था।

 

 

इनके पति दयाशंकर कस्टम विभाग में सुपरिटेंडेंट थे जिनका निधन पहले ही हो चुका है। पति के निधन के बाद महिला को पेंशन मिलती थी। इस बीच महिला का निधन हो गया। निधन के बाद इनके परिजनों ने अनोखा खेल रचा। पेंशन की लालच में मां की लाश पर केमिकल लगा कर रख दिया और चार महीने से पेंशन वसूल रहे थे। 

 

 

मृतका के पांच बेटे हैं रवि प्रकाश, देव प्रकाश, योगेश्वर प्रकाश, ज्योति प्रकाश व एक अन्य हैं। घर की बहुओं ने काफी अत्याचार और अमानवीय रुख अख्तियार किया और दाह संस्कार तक नही करने दिया। किसी ने 100 नंबर पर जानकारी थी तब पुलिस पहुंची और भेद खुला। इसके बाद तो मानों मुहल्ले में हड़कंप मच गया।

 

 

पुलिस के पहुंचने पर भी घर की महिलाएं बत्तमीजी पर उतारु रहीं और तरह-तरह के झूठ और बहाने बनाती रहीं। इस घिनौने खुलासे के बाद चारों तरफ कोहराम है। सीओ भेलूपुर अयोध्या सिंह ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है और मामले में जांच के आधार पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार