Kedarnath Dham: मेष लग्न में 17 मई को खुलेंगे केदारनाथ धाम के कपाट, जानिये मुहूर्त से जुड़ी ये खास बातें

डीएन ब्यूरो

करोड़ों हिन्दुओं की आस्था के प्रतीक और उच्च हिमालयी क्षेत्र में विराजमान भगवान केदारनाथ धाम के कपाट इस बार 17 मई को खोले जाएंगे। डाइनामाइट न्यूज रिपोर्ट में जानिये इस महापर्व से जुड़ी कुछ खास बातें

शीतकाल में बंद रहते हैं बाबा केदार के कपाट
शीतकाल में बंद रहते हैं बाबा केदार के कपाट


देहरादून: करोड़ों हिन्दुओं की आस्था के प्रतीक भगवान केदारनाथ धाम के कपाट खोलने का मुहूर्त महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर घोषित कर दिया गया। अति उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित बाबा केदार के कपाट इस बार 17 मई को खोले जाएंगे। शीतकाल में केदारनाथ धाम के कपाट लगभग 6 माह के लिये बंद रहते हैं। अब 17 मई को कपाट खुलने के बाद केदारनाथ समेत चार धाम यात्रा शुरू हो जायेगी।

केदारनाथ के मुख्य पुजारी व रावल भीमाशंकर लिंग की उपस्थिति में तीर्थ पुरोहितों और वेद पाठियो ने पंचांग पूजा के आदि भगवान केदार के कपाट खोलने की तिथि घोषित की गयी है। भगवान केदारनाथ के कपाट मेशलग्न में  17 मई (मंगलवार) को सुबह 5 बजे विधिवत पूजा-अर्चना और मंत्रोच्चार के बीच खोले जाएंगे। बता दें कि भगवान बद्रीनाथ के कपाट इसके एक दिन बाद यानि 18 मई को खोला जाना पहले ही तय हो चुका है।

केदारनाथ के कपाट खोलने से पहले उखीमठ, जहां शीतकाल में बाबा केदार विराजमान रहते हैं, वहां भव्य पूजा अर्चना की जाती है और उसके बाद वहां से बाबा केदार की डोली केदारनाथ के रवाना होती है। इस बार 13 मई को बैरवनाथ की पूजा अर्चना के बाद बाबा केदारनाथ की चल विग्रह की पंचमुखी खोली ओम्कारेश्वर मन्दिर उखीमठ से 14 मई को अपने बैराग्य धाम केदारपुरी के लिये निकलेगी।

बाबा की पंचमुखी विग्रह डोली पर प्रथम पड़ाव पर फाटा, दूसरी पड़ाव 15 मई को गौरीकुंड व तीसरा पड़ाव 16 मई को केदारधाम होगा। केदारधाम में 17 मई को सुबह 5बजे बाबा केदारनाथ के कपाट आम श्रदालुओं के लिये खोल दिये जायेंगे। 










संबंधित समाचार