UPSTF ने रेलवे भर्ती परीक्षा में सॉल्वर गैंग का किया भंडाफोड़, 10 गिरफ्तार

डीएन ब्यूरो

यूपी एसटीएफ के चीफ अमिताभ यश के निर्देशन में कानपुर यूनिट टीम ने रेलवे भर्ती बोर्ड की ग्रुप डी परीक्षा में धांधली करने वाले साल्वर गैंग का भंडाफोड़ किया है। जिसमें 10 लोगों को गिफ्तार किया गया है। डाइनामाइट न्यूज की स्पेशल रिपोर्ट..

गिरफ्तार सॉल्वर गैंग
गिरफ्तार सॉल्वर गैंग

कानपुर: उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स ने रेलवे भर्ती बोर्ड की ग्रुप डी परीक्षा में साल्वर बिठाने वाले गैंग का भंडाफोड़ किया है। इस फर्जीवाड़े में शामिल 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन लोगों को एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है उनके नाम हैं  राहुल कुमार, प्रवेश यादव,महेश कुमार यादव, सुनील कुमार साह, ललित कुमार यादव, अजय कुमार ताँती, विकास कुमार मालाकार, मुकेश कुमार सिंह, अजय कुमार यादव और रामबाबू पाल। 

यह भी पढ़ें: यूपी: एसटीएफ को मिली सफलता, 1 लाख का इनामी कुख्यात बदमाश मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार

कानपुर एसटीएफ ने इन गिरफ्तार बदमाशों के पास से 11 मोबाइल फोन, 21एडमिट कार्ड, 1 फर्जी वोटर आई कार्ड, 5 ब्लैंकचेक (SBI- 2 व HDFC-3 ), 3 ड्राइविंग लाइसेंस, 1 पेटीएम कार्ड, 19 आधार कार्ड, 6 एटीएम कार्ड, 3 पैनकार्ड, 1 बुलेट मोटरसाइकिल, 1 स्कूटी और 56260 रूपये नगदी बरामद किये हैं। थाना कल्याणपुर में अभियुक्तों  के विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।

यह भी पढ़ें: यूपी में अपराधियों के सिर चढ़कर बोल रहा है एसटीएफ का खौफ, क्यों जतायी शार्प शूटर अंशु दीक्षित ने अपने हत्या की आशंका?

पूछताछ में पता चला है कि इस गैंग का मुख्य सरगना रंजीत यादव, गुड्डू यादव, रंजीत यादव और जितेंद्र यादव है। फर्जी ID बनाने का व मिक्सिंग फोटो तैयार करने का काम मनोज साइबर कैफे पटना में मनोज व राहुल कुमार मिल कर करते हैं। रंजीत,जितेन्द्र व गुड्डू रुपया वसूलने के बाद इम्तिहान देने के लिए सम्बंधित राज्य के सरगना के साथ साल्वर को उक्त राज्य के परीक्षा केंद्रों में भेजते हैं, साल्वर की निगरानी करने के लिए, ताकि साल्वर बिना परीक्षा दिए भाग न जाये।  यही नहीं ये गैंग अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर सॉल्वर बिठाते थे। ये लोग एक कैंडिडेट से 5 से 6 लाख तक लेते हैं। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार