योगी सरकार में एक और पुलिसवाले की हत्या, बिजनौर में दरोगा की गर्दन काटकर हुई हत्या

डीएन संवाददाता

योगी सरकार के राज में गुंडागर्दी की वारदातें इतनी बढ़ती जा रही हैं कि अब खुद सुरक्षा करने वाला दरोगा भी सुरक्षित नहीं है। पढ़िए क्या है पूरा मामला..

सहजोर सिंह (फाइल फोटो)
सहजोर सिंह (फाइल फोटो)

बिजनौर: योगी सरकार प्रदेश से गुंडा राज खत्म करने की कवायद में जुटी है और कानून राज लाने की बात कर रही है। लेकिन योगी सरकार के राज में खुद सुरक्षा करने वाला दरोगा ही सुरक्षित नहीं है तो आम जनमानस के बारे में क्या धारणा बनाई जाए?

यह भी पढ़ें: महराजगंज: एकतरफा प्यार में आशिक का पागलपन, लड़की के ना बोलने पर फेंका तेजाब

बेखौफ बदमाशों ने बिजनौर के चंदक में बालावाली चौकी इंचार्ज सहजोर सिंह की शुक्रवार देर रात गला काटकर हत्या कर दी और सर्विस पिस्टल लूट ली। बदमाशों ने पुलिस का शव सड़क किनारे खेत में फेंक कर फरार हो गए। घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: नाली विवाद को लेकर दो पक्षों में खूब चले ईंट पत्थर, एक की मौत, करीब आधा दर्जन लोग घायल

उत्तर प्रदेश तथा उत्तराखंड सीमा पर गंगा किनारे मंडावर थाने की बालावाली पुलिस चौकी पर करीब एक वर्ष से दारोगा सहजोर सिंह मलिक प्रभारी थे। कल रात वह बाइक से मंडावर थाने से 20 किमी दूरी स्थित बालावाली पुलिस चौकी जा रहे थे। गोपालपुर गांव से कुछ दूर बंद पड़ी कांच की फैक्ट्री के समीप बदमाशों ने उनकी गला काटकर हत्या कर दी। घटना की सूचना म‍िलते ही डीएम जगतराज और एसपी अतुल शर्मा कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

यह भी पढ़ें: संतान सुख न मिलने के कारण पति ने की पत्नी की हत्या

एसपी अतुल शर्मा ने बताया कि सहजोर सिंह चौकी पर बने आवास में रहते थे, जबक‍ि उनका परिवार मेरठ के कंकडखेड़ा में रहता है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

पुलिस अधिकारी सभी पहलुओं पर मामल की जांच कर रही है और बदमाशों की तलाश जारी है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार