यूपी का कासगंज साम्प्रदायिक हिंसा की चपेट में, दो समुदायों में फायरिंग के बाद कर्फ्यू, एक की मौत

डीएन संवाददाता

गणतंत्र दिवस के दिन यूपी के संवेदनशील इलाके कासगंज में एबीवीपी की तिरंगा यात्रा के दौरान हुई नारेबाजी के बाद दो समुदायों के बीच जबरदस्त हिंसा हुई है। जमकर फायरिंग व पथराव किये गये। कई गाड़ियों को आग के हवाले झोंक दिया गया और इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया। मामले पर यूपी पुलिस के एडीजी और भाजपा सांसद के विरोधाभासी बयान सामने आये हैं। पूरी खबर..

हिंसा और पथराव का दृश्य
हिंसा और पथराव का दृश्य

कासगंज: 26 जनवरी का दिन कासगंज के लिए भारी पड़ा। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने शहर के नगर कोतवाली इलाके के बड्डू नगर मोहल्ले में मोटरसाइकिल से तिरंगा यात्रा निकाली। इसमें नारेबाजी ने शहर का माहौल बिगाड़ दिया।

आगजनी का दृश्य

दो समुदायों के लोग देखते ही देखते एक दूसरे की जान के दुश्मन बन बैठे। लोग कुछ समझते इससे पहले ही तोड़-फोड़, आगजनी, पथराव व फायरिंग शुरु हो गयी।

गोली से एक की मौत

इसमें एक व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गयी जबकि आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हैं। इनमें कुछ पुलिस वाले भी शामिल हैं।

मथुरा-बरेली राजमार्ग पर एक ट्रक, दो मैजिक और तीन स्कार्पियो में तोड़-फोड़ की गयी है।

घटना के बाद पुलिसिया पहरा

कर्फ्यू के बाद पसरा सन्नाटा

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया है। इस घटना के बाद जबरदस्त तनाव का माहौल है। घटना के तुरंत बाद पुलिस-प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। इलाका शांत होता इसी बीच राजनीतिक रोटियां सेंकने नेता भी पहुंच गये।

फिलहाल मौका-ए-वारदात पर भारी संख्या में पुलिस बल को झोंक दिया गया है। 

एडीजी और भाजपा सांसद की बातों में विरोधाभास
राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) आनंद कुमार ने कहा कि हालात अब काबू में हैं। ऐसा लगता है कि यह पहले से नियोजित हिंसा नहीं थी, घटना अचानक घटी। जबकि राजनीतिक रोटियां सेंकने तत्काल मौके पर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के पुत्र और एटा के भाजपा सांसद राजवीर सिंह ने कहा कि यह घटना प्री प्लांड है। उन्होंने कहा कि जब तक हमारे पक्ष को न्याय नहीं मिलेगा,  हम चैन से नहीं बैठने वाले। 

प्रमुख सचिव गृह ने कहा- हालात नियंत्रण में

इधर यूपी के प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने कहा कि एक दर्जन से ज्यादा वाहनों व संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया है। सुरक्षा व्यवस्था तगड़ी कर दी गयी है। हालात तनावपूर्ण हैं। ऐसे में लोगों को फिलहाल एहतियात के तौर पर घरों के अंदर ही रहने को कहा गया है।

मुख्यमंत्री ने लिया घटना का संज्ञान

सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना पर वरिष्ठ अफसरों से जवाब तलब किया। सीएम आफिस ने इस बारे में ट्विट भी किया।

सीएम ने उपद्रवियों से सख्ती से निपटने का निर्देश अफसरों को दिया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार