यूपी कैबिनेट का बड़ा फैसला, शिक्षक भर्ती के विवाद निपटारों के लिए ट्रिब्‍यूनल को हरी झंडी

डीएन ब्यूरो

यूपी के प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय में शिक्षक पद पर नौकरी करने का सपना देखने वाले युवाओं के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। यूपी कैबिनेट की बैठक में आज प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, माध्यमिक और सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों की भर्ती प्रक्रिया में विवादों के निपटारे के लिए ट्रिब्यूनल के गठन को मंजूरी दे दी गई।


लखनऊ: यूपी के प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय में शिक्षक पद पर नौकरी करने का सपना देखने वाले युवाओं के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। लखनऊ के लोकभवन में मंगलवार को यूपी कैबिनेट की बैठक संपन्‍न हुई। जिसमें प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, माध्यमिक और सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों की भर्ती प्रक्रिया में विवादों के जल्‍द निपटारे के लिए ट्रिब्यूनल के गठन को मंजूरी दे दी गई।

यह भी पढ़ें: योगी ने जारी किया फरमान, मंत्रिमंडल की बैठकों में मंत्री नहीं ला सकेंगे फोन

इस ट्रिब्यूनल में एक अध्यक्ष, दो उपाध्यक्ष और कम से कम तीन सदस्‍य रहेंगें। इन सदस्यों का न्यायिक और प्रशासनिक क्षेत्र के अनुभवी होना जरूरी होगा।

यह भी पढ़ें: डॉक्टरों के लिए खुशखबरी.. अब 62 की जगह 70 साल पर होगी सेवानिवृत्ति

इसकी जानकारी देते हुए प्रदेश सरकार के मंत्री और प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बताया की ट्रिब्‍यूनल के गठन से भर्ती प्रक्रिया में तेजी आयेगी। वहीं यदि कोई उम्मीदवार ट्रिब्‍यूनल के फैसले से संतुष्ट नहीं है तो 90 दिन के भीतर हाईकोर्ट में अपील कर सकेगा।

यह भी पढ़ें: चुनाव खत्म होते ही यूपी में दो दर्जन आईपीएस अफसरों के तबादले, कई जिलों के कप्तान बदले गये

प्रदेश में निजी विश्वविद्यालयों को लेकर भी एक बड़ा फैसला

अब प्रदेश में अलग-अलग एक्ट के माध्यम से संचालित होने वाले विश्वविद्यालयों के लिये एक अम्ब्रेला एक्ट बनेगा। जो सभी पर समान रूप से लागू होगा। साथ ही शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में नये निजी विश्वविद्यालय के लिए कम से कम 20 एकड़ और 50 एकड़ भूमि की आवश्यकता क्रमशः होगी। वहीं निजी विश्वविद्यालयों में कम से कम 75 प्रतिशत शिक्षक यूजीसी के निर्देशों के अनुसार नियुक्त किया जाना आवश्यक होगा।

यह भी पढ़ें: शिक्षकों के लिए दो सौ अंक के रोस्टर पर अध्यादेश लाएगी सरकार..50 नये केन्द्रीय विद्यालय खोलने का भी निर्णय

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …