बलरामपुर: स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण मे प्रशासन पूरी मुस्तैदी से जुटा

डीएन संवाददाता

स्वच्छ भारत मिशन के तहत चलाए गए विशेष अभियान में एमआईएस फीडिंग का लक्ष्य जिला प्रशासन ने पूरा कर लिया है। जिम्मेदारों की कड़ी मेहनत के बाद जिले में 17020 शौचालय निर्माण के लिए एमआईएस फीड किए गए हैं। हालाकि शौचालय निर्माण कार्य पूरा करना प्रशासन के सामने बड़ी चुनौती है।

प्रसासन द्वारा शौचालय निर्माण पर चर्चा
प्रसासन द्वारा शौचालय निर्माण पर चर्चा

बलरामपुर: स्वच्छ भारत मिशन के तहत चलाए गए विशेष अभियान के मद्देनजर प्रशासन ज्यादा से ज्यादा शौचालयो का निर्माण कराने के लिये प्रतिबद्ध नजर नहीं आ रहा है। जिले को वर्ष 2018 तक खुले में शौचमुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस वजह से जिले में 17020 शौचालय निर्माण के लिए एमआईएस फीड किए गए हैं। प्रशासन के मुताबिक 1012 राजस्व ग्रामों में से 42 ग्राम पंचायतें ओडीएफ हो चुकी है।

शौचालय निर्माण की धीमी प्रगति पर डीएम राकेश कुमार मिश्र ने नाराजगी जताई और डीएम ने प्रत्येक विकास खंडों को अलग अलग लक्ष्य दिया था। सदर विकास खंड को 2117 शौचालय बनाने का लक्ष्य निर्धारित हैं। 


डीपीआरओ सीपी सिंह के मुताबिक शौचालय निर्माण के लिए दो हजार प्रशिक्षित राजगीर लगाए गए हैं। लक्ष्य को प्राप्त कर लिया जाएगा। वहीं जानकारों की मानें तो यदि एक राजगीर तीन दिनों में दो शौचालय का निर्माण कार्य पूरा कर ले तब भी मात्र छह हजार शौचालय ही बन पाएंगे। ऐसे में लक्ष्य को पूरा करना एक बड़ी चुनौती होगी।  

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार