मेरठ: मुफ्त की मिट्टी ले बैठी मजदूर की जान, 4 लाख में हुआ समझौता

डीएन ब्यूरो

दो वक्त की रोटी के लिए मजदूर बेसमेंट से मिट्टी खोद रहा था लेकिन मजदूर के साथ बड़ा हादसा हो गया जिसके चलते उसकी दर्दनाक मौत हो गई। क्या हुआ मजदूर के साथ जानने के लिए पढ़िए डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट...


मेरठ: बेसमेंट से मिट्टी खोद रहे एक मजदूर की मलवे में दबकर दर्दनाक मौत हो गई। थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र के जाकिर कालोनी में रहने वाला मोहम्मद आस सुबह घर से बुग्गी लेकर दो वक्त की रोटी का इंतजाम करने निकला था। लेकिन उसे क्या पता था कि मौत उसका इंतजार कर रही है। 


मोहम्मद आस थाना मेडिकल क्षेत्र के शास्त्री नगर स्थित शुभकामना बैंकेट हॉल के पीछे संजय मित्तल नाम के व्यक्ति के बेसमेंट की खुदाई करने गया था। बेसमेंट से मिट्टी निकालते वक़्त मिट्टी की ढांग उसके ऊपर आ गिरी। मिट्टी की ढ़ाग के गिरने से आस मोहम्मद मलवे में दबकर तड़पता रहा। उसी समय वहां से गुज़र रहे राहगीरों ने चीख पुकार की आवाज़ सुनी तो किसी तरह लोगों ने हिम्मत दिखाते हुए मजदूर को मलवे से बाहर निकाला।

 


मौके पर लोगों ने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मजदूर को पास के ही अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया लेकिन मजदूर ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने घटना की खबर मजदूर के परिजनों को दी तो म्रतक के परिजनों में शोक की लहर दौड़ गई। 


आदर्श सेवा समिति के अध्यक्ष अनस चौधरी भी मजदूर के परिजनों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। अनस चौधरी ने म्रतक के परिजनों को आर्थिक मदद दी जाने की मांग की। जिसके बाद बेसमेंट मालिक संजय मित्तल ने मजदूर के परिजनों को 4 लाख रुपये देकर आर्थिक मदद की। जिसके बाद म्रतक के परिजनों ने किसी भी प्रकार की कार्रवाई से इनकार कर दिया है। 


प्रशासन की लापरवाही आई सामने
बता दें कि जिस जगह बेसमेंट में खुदाई का काम चल रहा था। उस बेसमेंट मालिक के पास प्रशासन की ओर से कोई अनुमति नहीं है। इसके अलावा एमडीए से नक्शा भी पास नहीं हो रखा है। ऐसे में सवाल है कि बिना किसी अनुमति के कैसे इस जगह इतना बड़ा काम चल रहा था और प्रशासन द्वारा इसके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की गई।

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …