DN Exclusive: जाने.. क्या है सुसाइड गेम ‘मोमो चैलेंज’, इस तरह बरतें सावधानी

डीएन ब्यूरो

सोशल मीडिया पर अब पुलिस समेत आम लोगों के लिए मोमो चैलेंज एक मुसीबत बन गया है।साइबर एक्सपर्ट का भी मानना है कि मोमो चैलेंज से लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। जाने क्या है मोमो चैलेंज और कैसे पाएं इससे पार.. डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

मोमो डॉल
मोमो डॉल

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर ब्लू व्हेल, किकी चैलेंज के बाद इन दिनों अब एक और चीज वायरल हो रही है, जिसका नाम है मोमो चैलेंज। मोमो चैलेंज कोई चाइनीज मोमोज नहीं है, जिसे देखते ही मुंह में पानी आ जाए और मिर्च से भरी लाल चटनी के साथ खाने के बाद आंख से आंसू निकले। यहां हम बात कर रहे हैं मोमो चैलेंज की जो कि एक चुनौती भरा गेम हैं। इसे खेलने वालों को न सिर्फ डराया जाता हैं बल्कि इसे खेलते समय आप अपनी जान से भी हाथ धो बैठेंगे।

आइए जानते हैं मोमो चैलेंज के वायरल होने के पीछे का कारण और इसे खेलने से होने वाला नुकसान और कानून की इस पर पकड़ः

1. मोमो चैलेंज आखिर हैं क्याः आपके पास अगर एंड्रायड मोबाइल हैं और आप व्हाट्सएप यूज करते हों तो अब आपको सावधान होने की जरूरत हैं। आपके व्हाट्सएप मैसेज पर अनजान नंबर से अचानक एक डरावनी तस्वीर दिखाई दे सकती हैं। जिसकी दो बड़ी-बड़ी गोल आंखें हो, जो हल्के पीले रंग की दिखती हो और जिसकी टेढ़ी-मेढ़ी नाक और डरावनी मुस्कान हो और वह आपका ध्यान भटका रही हो तो यह कोई और नहीं बल्कि मोमो चैलेंज है।

2. ये करने को कहता हैं मोमोः यह डरावनी तस्वीर भेजने वाला शख्स आपको पहले व्हाट्सएप पर मैसेज भेजेगा और उसके पास आपको अपना परिचय मोमो के रूप में देगा। वह आपसे दोस्ती करने के लिए कहेगा और इस नंबर को सेव करने को भी। बस यहीं से शुरू होता हैं कि मोमो का सिलसिला, ऐसा नहीं करने पर वह आपकी गुप्त बातों को सोशल मीडिया पर शेयर करने की धमकी देने लगेगा और आप मानसिक तौर पर पूरी तरह से टूट जाएंगे और मोमो आपको ब्लैकमेल करना शुरू कर देगा और जो वो कहेगा उसे आपको हर हाल में करना पड़ेगा। चाहे आपकी जान पर क्यों न बन आए। 

यह भी पढ़ें: अब सोशल मीडिया पर SC/ST के खिलाफ टिप्पणी करना पड़ेगा भारी..

3. यहां से आया हैं मोमोः बताया जा रहा हैं कि सोशल मीडिया पर वायरल होने वाला यह गेम अमरीका से अर्जेंटीना, फ्रांस, जर्मनी से होकर भारत में पहुंचा है। वहीं सोशल मीडिया पर एक दुबली व सिकुड़ी डरावनी महिला की तस्वीर जापान से जारी हुई हैं। इस तस्वीर को लेकर कहा जाता हैं कि 2016 में एक जगह पर भूतों की एक प्रदर्शनी लगाई गई थी। जो एक बर्ड वूमेन(पक्षी जैसे दिखने वाली महिला) की कलाकृति है। यह फोटो सबसे पहले जापान के एक इंस्टाग्राम अकांउट पर दिखी थी। वहीं मेक्सिको के कम्प्यूटर इंवेस्टीगेशन यूनिट का कहना है कि इसकी शुरुआत फेसबुक से हुई है। 

भारत में सूइसाइड गेम बन चुका हैं मोमो

कोलकाताः पश्चिम बंगाल के उत्तरी क्षेत्र में मोमो चैलेंज पूरा करते समय आत्महत्या के दो मामले सामने आ चुके हैं। इस घटना के बाद राज्य प्रशासन ने इस चुनौती से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन से जरूरी कदम उठाने को कहा है। प्रशासन ने खासतौर पर शैक्षणिक संस्थानों से छात्रों की गतिविधि पर नजर रखने के लिए कहा है। क्योंकि यह युवाओं में ज्यादा लोकप्रिय हो रहा है। 

दार्जिलिंगः दार्जिलिंग में कुर्सियांग जिले में 20 अगस्त को दो मामले सामने आए थे जिसमें मनीष सर्की(18) और अदिती गोयल(26) ने अपने मोबाइल पर आए व्हाट्सएप मैसेज में मोमो चैलेंज को स्वीकार किया और अगले दिन कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। 

राजस्थानः यहां अजमेर में इसी साल 31 जुलाई को एक 10वीं की छात्रा का आत्महत्या का मामला सामने आया था। मामले में बच्ची के घरवालों का आरोप हैं कि वह फोन पर कुछ देख रही थी जब इसकी जांच की गई तो पता चला कि मोमो चैलेंज लेने की वजह से उसकी मौत हुई थी। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है लेकिन इस घटना के तुरंत बाद अजमेर पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर ट्वीट कर कहा कि मोमो गेम खेलने से हुई बच्ची की मौत मामले में जांच- पड़ताल चल रही है। अजमेर पुलिस अपने नागरिकों से आग्रह करती हैं कि वह मोमो चैलेंज से दूर रहें और ऐसे किसी मैसेज को अगर अपने व्हाट्सएप पर देखे तो इसकी जानकारी तुरंत नजदीकी पुलिस स्टेशन को दें। 

यह भी पढ़ें: सोशल मीडिया पर भूलकर भी न करें इस दस्तावेज को शेयर, सरकार ने जारी की चेतावनी

 ब्लू व्हेल

4. ब्लू व्हेल और किकी चैलेंज पर भी रोकः इससे पहले सोशल मीडिया पर ब्लू व्हेल ने आतंक मचाया था। इसे खेलने की वजह से कई बच्चों के सुसाइड के मामले सामने आए थे। जिसके बाद सरकार ने इसे प्रतिबंधित कर सभी राज्यों की पुलिस ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लोगों से इससे दूर रहने के लिए कहा था। खासतौर पर अभिभावकों पर अपने बच्चों की गतिविधयों पर नजर रखने को कहा गया था।

वहीं किकी चैलेंज भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था जो दुबुई, अमेरिका, यूरोप, इजिप्ट और जोर्डन के बाद भारत में युवाओं को खूब लुभा रहा था। दरसल यह कनाडा के रैपर ड्रेक की एल्बम स्कॉरपियन के गाने इन माई फीलिंग्स से लिया गया चैलेंज है। इसकी शुरुआत सबसे पहले शिग्गी नाम के कॉमेडियन ने किकी चैलेंज के नाम से की। इस चैलेंज में रास्ते पर गाड़ी से उतकर डांस करना होता है।

सिर्फ बॉलीवुड हस्तियों ने बल्कि टीवी कलाकारों ने भी अपनाया था। यहीं नहीं स्टेशन पर किकी चैलेंज का वीडियो पोस्ट करने वाले तीन युवकों को महाराष्ट्र के पालघर जिले में एक स्थानीय अदालत ने अनूठी सजा भी सुनाई थी। कोर्ट ने इन तीनों युवकों को वसई रेलवे स्टेशन जहां इन्होंने डांस किया था वहीं पर तीन दिन तक सफाई करने और किकी चैलेंज से होने वाले नुकसान से यात्रियों को जागरूक करने के लिए कहा था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार