RBI के संशोधन से घर व कार की किश्‍त चुकाने वालों को मिल सकती है राहत

डीएन ब्यूरो

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की मौद्रिक नीति की समीक्षा बैठक में नीतिगत दरों में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती कर दी है। अब रेपो रेट 6 फीसदी से घटकर 5.75 फीसदी हो गई है। इससे आपके होम लोन, कार लोन का बोझ कम होगा। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का यह पहला बड़ा तोहफा है।

आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास
आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास

नई दिल्‍ली: भारतीय रिजर्व बैंक ने ने नीतिगत दरों में आज 0.25 फीसदी की कटौती की है। जिससे होम और ऑटो, कार ऋण लेने वालों के लिए यह राहत भरी खबर है। अब उनकी किस्‍त का बोझ घटेगा। यह लगातार तीसरी बार है जब भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में कटौती की है।

यह भी पढ़ें: देश का विदेशी मुद्रा भंडार 1.99 अरब डॉलर की बढ़त के साथ हुआ 419.99 अरब डॉलर

आरबीआई की पिछली दो बैठकों में भी एमपीसी रेपो रेट में क्रमश: 0.25  फीसदी की कटौती कर चुकी है। यानी जून में लगातार तीसरी बार केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट घटाई है। वहीं रिजर्व बैंक के इतिहास में पहली बार है जब आरबीआई गवर्नर की नियुक्‍ति के बाद लगातार तीसरी बार रेपो रेट में कमी आई है। गौरतलब है कि बीते दिसंबर महीने में उर्जित पटेल के इस्‍तीफे के बाद शक्तिकांत दास बतौर गवर्नर नियुक्‍त हुए थे।

यह भी पढ़ें: रुपये भेजने को लेकर 1 जून से बदल जाएगा RBI का यह नियम, देखें आप पर क्‍या पड़ेगा असर

विशेषज्ञों का भी मानना था कि केंद्रीय बैंक सस्ते कर्ज के जरिए बाजार में तरलता बढ़ाकर अर्थव्यवस्था की रफ्तार तेज करने की कोशिश करेगा। वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर पांच साल के निचले स्तर पर आ गई है जिसके मद्देनजर रिजर्व बैंक द्वारा ब्याज दरों में कटौती की गुंजाइश बढ़ी है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …