मानव अंगों की तस्करी से जुड़ा डेरे का कनेक्शन, लखनऊ भेजे गए 14 शव

डीएन ब्यूरो

राम रहीम के डेरे के कई काले कारनामे सामने आने लगे है। डेरे से 14 शव बिना किसी डेथ सर्टिफिकेट के लखनऊ के एक प्राइवेट मेडिकल कॉलेज भेजे जाने का मामला सामने आया है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

लखनऊ: बलात्कार के मामले में दोषी करार दिये गये राम रहीम के डेरे के कई काले कारनामे सामने आने लगे है। अब इस बात का भी खुलासा हुआ है कि उसके डेरे से 14 शव लखनऊ के एक प्राइवेट मेडिकल कॉलेज भेजे गये थे। इन शवों के साथ न तो कोई डेथ सर्टिफिकेट था और न ही सरकार की तरफ से कोई अनुमति पत्र। इस नये खुलासे के बाद डेरे का कनेक्शन मानव अंगों की अवैध तस्करी से जुड़ते हुए दिखायी दे रहा है।

यह भी पढ़ें: डेरा में सर्च ऑपरेशन जारी: अवैध पटाखा फैक्ट्री सील, विस्फोटक जब्त

छात्रों के रिसर्च के नाम पर मंगाए गए थे शव

राम रहीम के डेरे से इन 14 शवों को लखनऊ के बीकेटी के जीसीआरजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइसेंज में भेजे गये थे। बताया जाता है कि इस निजी प्राइवेट मेडिकल में ये शव छात्रों के रिसर्च के नाम पर मंगाये गये थे। जीसीआरजी मेडिकल कॉलेज पहले भी विवादों में रह चुका है और मेडिकल कांउसिल इसकी एक बार मान्यता भी रद्द कर चुका है। 

मामले की होगी गहन जांच

मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया की टीम द्वारा पिछले दिनों यहां किये गये निरीक्षण के दौरान मेडिकल की पढ़ाई के लिए एक भी शव न मिलने पर आपत्ति जताई गयी थी। निरिक्षण के बाद कॉलेज ने जनवरी से अगस्त के बीच 14 शव मंगाए गये थे। मार्च से जून के बीच यहां 14 ये शव आये। तहकीकात के बाद पता चला कि ये सभी शव डेरा सच्चा सौदा से आये हैं। अब इस मामले की गहन जांच होगी।

यह भी पढ़ें: जेल में बंद राम रहीम ने जतायी अब यह इच्छा..

क्या कहना है एसएसपी का

लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार का कहना है कि मार्च से जून के बीच यहां 14 डेड बॉडी आई थी। शवों से संबंधित कागजात मांगे गए थे। डेड बॉडी परिवारीजनों की स्वीकृति पत्र के बाद सुपुर्द की गई है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …