राफेल डील पर बोले राहुल गांधी- पीएम मोदी ने अंबानी को 30 हजार करोड़ का तोहफा दिया

डीएन ब्यूरो

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर केंद्र सरकार व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर बड़ा हमला बोला। राहुल ने कहा कि पीएम मोदी ने इस डील के जरिये अंबानी को बड़ा तोहफा दिया है। डाइनामाइट न्यूज़ की इस खबर में पढ़ें और क्या-क्या बोले राहुल गांधी..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: फ्रांस के साथ राफेल डील को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने फिर एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला किया। राहुल ने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने साफ कर दिया कि अनिल अंबानी को जो हजारों करोड़ रुपए जो का कॉन्ट्रेक्ट मिला वह पीएम मोदी के कहने पर दिया। उन्होंने कहा कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति पीएम मोदी को चोर कह रहे हैं, क्या अब मोदी चुप्पी तोड़ेंगे। यह पहली बार है, जब राफेल डील को लेकर 'चोर' तक की बातें की गयी।  

DN Exclusive: राफेल डील पर आखिर क्यों बरपा हैं हंगामा, जानें पूरा सच..

राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में बड़ी बातें..

1. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी के कहने पर अनिल अंबानी को राफेल की डील दी गई। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने एक स्टेटमेंट दी है कि उनके पास अनिल अंबानी का नाम आया था। 

2. सब कुछ ठीक नहीं है। फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने अपने स्टेटमेंट में साफ कहा है राफेल डील को लेकर अनिल अंबानी को जो हजारों करोड़ रुपए का  कॉन्ट्रेक्ट मिला, वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कहने पर दिया गया था। 

यह भी पढ़ेंः DN Exclusive: सबको पसंद है राफेल विमान, जानिये इनकी बड़ी खासियतें

3. फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री को चोर कह रहे हैं। अब इस स्टेटमेंट पर मोदी किसलिए चुप्पी साधे बैठे है। 30 हजार करोड़ रुपए का सौदा नरेंद्र मोदी जी ने स्वयं अनिल अंबानी को दिया है।  

4. मतलब साफ है कि भारत का प्रधानमंत्री करप्ट है। यानी देश का चौकीदार चोर है। राहुल गांधी का कहना है फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपित फ्रांस्वा ओलांद जो कह रहे हैं वह गलत है।

5. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति की इस बात का खंडन करना चाहिए और जनता के सामने इसे स्पष्ट करना चाहिए की जो भी  फ्रांस्वा ओलांद ने स्टेटमेंट में कहा है यह पूरी तरह से गलत है। 

6. पूर्व रक्षा मंत्री का कहना है जब राफेल का कांट्रेक्ट बदला गया तब उन्हें मालूम नहीं था वो गोवा के फिश मार्केट में मछली खरीद रहे थे। 

7. अब वर्तमान में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण कहती हैं कि मैं पूरे देश को हवाई जहाज के प्राइज बता दूंगी जबकि उसके कुछ दिन बाद इसे नेशनल सिक्रेट कहकर हवाई जहाज के प्राइज बताने से मना कर रही है।

8. संसद में मैंने नरेंद्र मोदी जी से बोला कि फ्रांस के राष्ट्रपित इमैनुअल मैक्रों जी के साथ हुई मेरी मीटिंग में मैक्रों ने साफ कहा था कि हिंदुस्तान की सरकार अगर राफेल का प्राइज किसी को बताना चाहती हैं तो वह इसके लिए स्वतंत्र है। इस पर छुपाने जैसे कोई बात है ही नहीं, बावजूद इस पर केंद्र सरकार चुप्पी साधे बैठी है।   

यह भी पढ़ेंः अविश्वास प्रस्ताव पर राहुल गांधी का भाषण- राफेल डील पर देश को भाजपा ने धोखा दिया, संसद में हंगामा

9. जो हवाई जहाज  526 करोड़ का यूपीए ने खरीदा था उसी को एनडीए की सरकार यानी नरेंद्र मोदी जी ने अनिल अंबानी की मदद करने के लिए अनिल अंबानी की जेब में 30 हजार करोड़ डालने के लिए 16 सौ करोड़ रुपए में खरीद लिया। 

10. अनिल अंबानी ने कांट्रेक्ट के 12 दिन पहले एक नई कंपनी तैयार कर ली। अनिल अंबानी ने कभी हवाई जहाज नहीं बनाया। एचएल से सरकार ने कांट्रेक्ट छीन लिया। निर्मला सीतामरण कहती हैं की एचएल तो ये कर ही नहीं सकता। जबकि एचएल के वरिष्ठ अधिकारी कहते हैं कि यह झूठ बोल रही हैं। एचएल बिल्कुल डिलीवर कर सकता था। इसका मतलब बीजेपी एक के बाद एक झूठ बोल रही है।   

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार