मन की बात: 15 अगस्त को संकल्प दिवस के तौर पर मनाएं- पीएम मोदी

डीएन संवाददाता

पीएम नरेंद्र मोदी ने 34वें मन की बात में देशवासियों से अपील की है कि 15 अगस्त को संकल्प दिवस के तौर पर मनाएं।

पीएम नरेंद्र मोदी की मन की बात
पीएम नरेंद्र मोदी की मन की बात

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने 34वें मन की बात में देश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि इस बार स्वतंत्रता दिवस को संकल्प दिवस के रूप में मनाया जाए। साथ ही उन्होंने देशवासियों को बताया कि इस साल भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ है, यूसुफ मेहरैली ने 'भारत छोड़ो' का नारा दिया था और कहा कि हमारी नई पीढ़ी को जानना चाहिए कि 9 अगस्त, 1942 को क्या हुआ था? उन्होंने कहा कि  2022 में आजादी के 75 साल के मौके पर हम इस बार लिए संकल्प को सिद्धि में परिणत करके रहेंगे।

पीएम मोदी की 'मन की बात' की खास बातें

1. बाढ़: हर कोई वर्षा के आगमन पर प्रफुल्लित हो जाता है लेकिन कभी-कभी वर्षा विकराल रूप लेती है। कुछ हिस्सों में असम, नार्थ-ईस्ट, गुजरात, राजस्थान, बंगाल, ज्यादा वर्षा के कारण प्राकृतिक आपदा झेलनी पड़ी है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की पूरी मॉनिटरिंग हो रही है, व्यापक स्तर पर राहत कार्य किए जा रहे हैं। केंद्र और राज्य सरकारें बाढ़ पीड़ितों को मदद पहुंचा रही हैं

2. जीएसटी: लोग जीएसटी के संदर्भ में खुशी भी व्यक्त करते हैं और जिज्ञासा भी जताते हैं। जीएसटी से ग्राहकों का व्यापरियों के प्रति भरोसा बढ़ने लगा है। मुझे खुशी होती है जब कोई बताता है जीएसटी के कारण गरीब की चीजें कैसे सस्ती हुई हैं। जीएसटी ने हमारी अर्थव्यवस्था पर एक बहुत ही सकारात्मक प्रभाव और बहुत ही कम समय में उत्पन्न किया है। जीएसटी से ग्राहकों का व्यापरियों के प्रति भरोसा बढ़ने लगा है। जीएसटी ने हमारी अर्थव्यवस्था पर एक बहुत ही सकारात्मक प्रभाव और बहुत ही कम समय में उत्पन्न किया है। जीएसटी सफलता की नई ऊंचाई है, ये दुनिया के लिए एक केस स्टडी बनेगा। सरकार की प्राथमिकता है कि इससे गरीब की थाली पर कोई फर्क ना पड़े। जीएसटी एप से आप जान सकते हैं कि पहले जिस चीज़ का जितना दाम था, नई परिस्थिति में कितना दाम होगा।

3. भारत छोड़ो आंदोलन: अगस्त के महीने की कई घटनाएं आजादी की तारीख से जुड़ी हुई हैं। इस साल भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ है, यूसुफ मेहरैली ने 'भारत छोड़ो' का नारा दिया था। हमारी नई पीढ़ी को जानना चाहिए कि 9 अगस्त, 1942 को क्या हुआ था?

4. 15 अगस्त का भाषण: मुझे शिकायत मिली है कि मेरा 15 अगस्त का भाषण लंबा हो जाता है, मैं इसे छोटा करने की कोशिश करूंगा। 15 अगस्त को इस बार 40-50 मिनट का छोटा भाषण देने की कोशिश करूंगा। 15 अगस्त के भाषण के लिए मुझे सुझाव भेज सकते हैं।

5. गणेश उत्सव: यह साल सार्वजनिक गणेश उत्सव का 125वां साल है. इस साल लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के योगदान को लेकर चर्चा करनी चाहिए। इस बार गणेश उत्सव में मिट्टी के गणेश बनाने का संकल्प लें।

6. महिला क्रिकेट टीम: हमारी बेटियां देश का नाम रोशन कर रही हैं। पिछले दिनों महिला क्रिकेट टीम की बेटियों से मिलने का मौका मिला। मैं जब भारतीय महिला टीम से मिला तो उन पर जीत ना दर्ज कर पाने का दवाब था। देश ने बेटियों की हार के बोझ को अपना बोझ बना लिया. इन बेटियों ने 125 करोड़ लोगों का दिल जीत लिया है।

7. रक्षाबंधन: त्योहार से रिश्तों में मिठास आती है, व्यक्ति से समाज को जोड़ते हैं। राखी के साथ लाखों लोगों का रोजगार जुड़ा होता है। आइये अपने उत्सवों को गरीबों के साथ जोड़ें, उनकी अर्थव्यवस्था के साथ जोड़ें।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार