महराजगंज पालिका अध्यक्ष: 100 करोड़ के बजट पर सबकी निगाह.. टिकट दावेदारों का शक्ति-प्रदर्शन उफान पर

शिवेंद्र चतुर्वेदी

भले ही निकाय चुनाव की अधिसूचना जारी होने में अभी एक सप्ताह की देरी हो लेकिन बसपा, सपा, कांग्रेस और भाजपा से टिकट के दावेदारों ने जमकर शक्ति-प्रदर्शन शुरु कर दिया है। इसी की पड़ताल डाइनामाइट न्यूज़ की यह एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

नगर पालिका परिषद, महराजगंज
नगर पालिका परिषद, महराजगंज

महराजगंज: डाइनामाइट न्यूज़ महराजगंज नगर पालिका अध्यक्ष से जुड़ी हर एक खबर सबसे पहले आप तक पहुंचा रहा है। इस कड़ी में आज हम बात कर रहे हैं कि सपा, बसपा, कांग्रेस और भाजपा से टिकट के लिए कौन-कौन दावा ठोंक रहा है? 


बसपा से ये हैं दावेदार
वीरेन्द्र लोहिया
अमरनाथ पटेल
विजय जायसवाल

सपा से ये हैं दावेदार
अशफाक अहमद उर्फ बबलू भारती
अतुल पटेल
शैल जायसवाल

यह भी पढ़ें: आरक्षण ने बिगाड़े कई प्रमुख दावेदारों के समीकरण

कांग्रेस से ये हैं दावेदार
अख्तर अब्बासी
राकेश गुप्ता

विराजवीर अभिमन्यु

नूर आलम

 

भाजपा से ये हैं दावेदार 
सानंदन पटेल
नीरज कश्यप
सुरेश मोदनवाल
ओम प्रकाश पटेल
कृष्ण गोपाल जायसवाल
चौधरी विजय सिंह
संजय वर्मा 
सुरेश मद्धेशिया
राजेश मद्धेशिया 

दल तय नही

इनके अलावा एक और संभावित प्रत्याशी श्रवण पटेल चुनावी समर में कूदेंगे लेकिन वे चुनाव निर्दल लड़ेंगे या फिर किसी राजनीतिक दल से इस बारे में उन्होंने अपनी तस्वीर साफ नही की है।

निर्दलियों की तस्वीर
एक बात तो साफ है कि इस बार का चुनाव काफी रोचक होने जा रहा है। उपरोक्त नामों में से कई ने फोन कर डाइनामाइट न्यूज़ को बताया कि उन्होंने लंबे समय से पार्टी की सेवा की है इसके बावजूद उन्हें वफादारी का इनाम नही दिया गया तो वे फिर बगावत करने को मजबूर होंगे और निर्दलीय ही चुनावी अखाड़े में कूदेंगे।

सबसे अधिक बगावत सत्तारुढ़ दल में
डाइनामाइट न्यूज़ को यह खबर हाथ लगी है कि टिकट कटने की दशा में सबसे ज्यादा बगावत भाजपा में होगी वजह है 20 साल के बाद शहर की सीट अनुसूचित जाति से हटी है ऐसे में कोई अपने हक को छोड़ना नही चाहता।


बजट है चुनाव लड़ने का सबसे बड़ा कारण
शहर का प्रथम नागरिक होना मान-सम्मान में वृद्धि तो करता ही है साथ ही इस चमकदार कुर्सी पर बैठने वाला व्यक्ति हर साल सौ करोड़ रुपये के बजट का वारा-न्यारा करता है। यह एक बड़ा कारण है जिससे कई संभावित प्रत्याशी इसके मोह में चुनाव लड़ते हैं।

यह भी पढ़ें: भाजपा में दावेदारों की लंबी फौज, किसके सिर सजेगा सेहरा?

काफी महंगा होगा इस बार का चुनाव
राजनीतिक समीक्षकों का मानना है कि 1987 के बाद से अब तक के नगर पालिका के चुनावी इतिहास में इस बार का चुनाव सबसे महंगा होने जा रहा है। दो संभावित प्रत्याशियों के चलते अगर यह चुनाव एक करोड़ के खर्च तक पहुंच जाये तो कोई आश्चर्य नही होना चाहिये। इनमें एक प्रत्याशी पिपरदेउरा के हैं तो दूसरे पड़री के।

प्रशासन के लिए निष्पक्ष चुनाव कराना बड़ी चुनौती
सूत्रों का कहना है कि शहर के प्रथम नागरिक के लिए नवबंर में होने जा रहे इस चुनाव में बड़े पैमाने पर काले धन के प्रयोग की संभावना है ऐसे में इस बार फ्री एंड फेयर चुनाव कराना जिला प्रशासन के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण होगा।

शक्ति-प्रदर्शन चरम पर
हर दल के संभावित प्रत्याशियों ने जमकर शक्ति-प्रदर्शन प्रारंभ कर दिया है। कोई मोटर साइकिल रैली निकाल रहा है तो कोई जुलूस, तो कोई समर्थकों के लाव-लश्कर के साथ विभिन्न मोहल्लों में पैदल जनसंपर्क। सबका मसकद एक.. किसी तरह हाईकमान को यह संदेश देना कि टिकट अगर उसे मिली तभी पार्टी की होगी जीत।

(डाइनामाइट न्यूज़ पर आपको महराजगंज नगर पालिका चुनाव से जुड़ी हर एक खबर सबसे पहले मिलेगी। नि:शुल्क मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए 9999 450 888 पर मिस्ड काल करें)

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार