महराजगंज: पुलिस ने किया कपड़ा व्यापारी की हत्या का खुलासा, डाइनामाइट न्यूज़ की विश्वसनीयता पर लगी मुहर

डीएन संवाददाता

पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह के निजी प्रयासों से शहर के कपड़ा व्यापारी आशुतोष पटेल की हत्या के मामले का पर्दाफाश हो गया है। इसी के साथ डाइनामाइट न्यूज़ की विश्वसनीयता पर एक बार फिर मुहर लग गयी है, डाइनामाइट न्यूज़ ने यह खुलासा सबसे पहले सोमवार शाम को किया था।

गिरफ्तार आरोपी, पुलिस अधीक्षक व अन्य अधिकारी
गिरफ्तार आरोपी, पुलिस अधीक्षक व अन्य अधिकारी

महराजगंज: पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह के निजी प्रयासों से शहर के कपड़ा व्यापारी आशुतोष पटेल की हत्या के मामले का पर्दाफाश हो गया है। इसी के साथ डाइनामाइट न्यूज़ की विश्वसनीयता पर एक बार फिर मुहर लग गयी है। डाइनामाइट न्यूज़ ने सोमवार शाम को ही इस मामले का खुलासा कर दिया था कि पुलिस इस हत्याकांड से मंगलवार को पर्दा उठायेगी, जिसकी आज महराजगंज पुलिस ने औपचारिक घोषणा की।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: कपड़ा व्यापारी हत्याकांड के खुलासे के करीब पहुंची पुलिस, दो अपराधी चिन्हित, कल होगा खुलासा  

 

यह भी पढ़ें: महराजगंज शहर में कपड़ा व्यवसायी की निर्मम हत्या से सनसनी.. कोतवाल की भूमिका पर उठे सवाल.. पुलिस ने तीन को उठाया

हत्यारोपी अलिरजा गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले में एक हत्यारोपी अलिरजा पुत्र इशु उर्फ़ यूसुफ़ (निवासी-काशीराम आवास) को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार हत्यारोपी ने पुलिस के समक्ष अपना अपराध कबूल कर लिया है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त पानी की पाइप युक्त लोहे की टोटी भी बरामद कर ली है। अलिरजा ने इसी टोटी से आशुतोष पटेल पर प्रहार किया था। 

 

 

हत्या में प्रयुक्त लौहे की टोटी को दिखाते एसपी

 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: कपड़ा व्यापारी हत्याकांड में 21 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली, दर्जन भर लोगों को पुलिस ने उठाया, मची दहशत

कोतवाल रामदवन मौर्य की बड़ी नाकामी

इस मामले में कोतवाल रामदवन मौर्य की नाकामी के कारण यह मामला सुलझाने में पुलिस को वक्त लगा। रामदवन मौर्य की लापरवाही पर कई सवाल उठाये जा रहे हैं। एसपी आरपी सिंह ने भी लापरवाह कोतवाल को जमकर लताड़ा और सख्त हिदायत दी। लोगों में भी कोतवाल के खिलाफ भारी गुस्सा है।


 

इसी लौहे की टोटी से किया गया था वार

 

टोकने से नाराज था हत्यारोपी

पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए कहा कि बीती 14 /15 अप्रैल की रात नगर के बैकुण्ठपुर में युवा व्यापारी आशुतोष पटेल की उस समय हत्या की गयी जब वह रात को पार्टी करके अपने घर वापस लौट रहे थे। जैसे ही मृतक पावर हाउस के पास पंहुचा तभी अलिरजा पुत्र इशु उर्फ़ यूसुफ़ पानी सप्लाई की टोटी लेकर टहल रहा था। मृतक आशुतोष पटेल ने अलिरजा को टोका। इसी बात को लेकर दोनो में झड़प हुई और आरोपी अलिरजा ने आशुतोष पर टोटी से जोरदार प्रहार किया, जिससे आशुतोष वही गिर पड़ा। राहगीरों द्वारा पुलिस के पास फोन किया गया, पुलिस आशुतोष को अस्पताल ले गई जहां डॉक्टरों ने उसे पहले से ही मरा हुआ घोषित कर दिया। पुलिस के मुताबिक मृतक के शरीर पर 17 जगहों पर चोट के निशान मिले।

इस मामले के खुलासे के लिये पुलिस ने 3 दर्जन लोगों से लगभग 40 घण्टे तक पूछताछ की और कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया। 
 

हत्या का खुलासा करते एसपी

एसपी आरपी सिंह के प्रयास लाये रंग

एसपी आरपी सिंह खुद इस मामले की मॉनिटरिंग कर रहे थे, इसके लिये वह लगातार बैठकें करते रहे और संदिग्धों पर निगाहें जमाये रखे। आशुतोष पटेल की हत्या को सुलझाने में महराजगंज के एसपी आरपी सिंह ने जिस तरह की चुनौतियों का सामना किया, वह पूरे पुलिस महकमें के लिये एक आदर्श उदाहरण है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …