महराजगंजः एससी/एसटी एक्ट के विरोध में ब्राह्मण महासभा ने निकाला जुलूस, बांधी काली पट्टी

डीएन ब्यूरो

एससी/एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को पलटने के बाद पूरे देश में मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे है। इसी कड़ी में महराजगंज के निचलौल में भी अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा ने जुलूस निकालकर अपनी आवाज बुलंद की। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट

विरोध-प्रदर्शन करते महासभा के कार्यकर्ता
विरोध-प्रदर्शन करते महासभा के कार्यकर्ता

महराजगंजः एसी/एसटी एक्ट के विरोध में शनिवार को महराजगंज के निचलौल में अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी बांधकर इसका जमकर विरोध किया और जुलूस निकाला। ब्राह्मण महासभा की मांग है कि एससी/एसटी एक्ट में संशोधन किया जाए और आर्थिक आधार पर ही आरक्षण व्यवस्था को लागू किया जाए।

जुलूस में शामिल कार्यकर्ताओं ने कहा कि देश को अंग्रेजों से आजाद करवाने में सवर्णों और पिछड़ी जातियों की अहम भूमिका रही थी। उनका कहना है कि इस बात में कोई दोराय नहीं है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश का काफी बढ़िया नेतृत्व कर रहे हैं और मोदी मजबूत व सशक्त प्रधानमंत्री है। लेकिन यह बात समझ के परे है कि एससी/ एसटी एक्ट जैसे महत्वपूर्ण विषय को समझने और इसे लागू करने में उनसे इतनी बड़ी भूल कैसे हो सकती हैं।

यह भी पढ़ेंः महराजगंज: क्राइम मीटिंग में एसपी ने दिखाये कड़े तेवर, अपराध व सड़क हादसों के बढ़ने पर थानेदारों को फटकार

कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस कानून से ये लापरवाही सामने आ सकती है कि एससी/एसटी एक्ट के तहत कोई भी दलित छोटी सी बात पर भी इसकी धारा को बेगुनाह पर थोप सकता है। पुलिस जांच के बाद जिस व्यक्ति पर यह आरोप लगा हो अगर वह बेगुनाह साबित हो जाता है तो इसका जिम्मेवार कौन होगा। 

ब्राह्मण महासभा के कार्यकर्ताओं का यह जुलूस कस्बे से होते हुए तहसील परिसर तक पहुंचा। यहां विरोध कर रहे कार्यकर्ताओं में धीरज तिवारी, अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा जिलाध्यक्ष , अनुराग दुबे, सन्नी दुबे, अजय तिवारी, हरीश तिवारी, संजय सिंह, अमुल्य सिंह आदि ने बढ़चढ़कर सरकार के खिलाफ रोष प्रकट किया।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार