महराजगंजः रोडवेज बस कंडक्टर को प्राइवेट कंडक्टरों ने आग लगाकर जिंदा जलाने का किया प्रयास..

डीएन संवाददाता

महराजगंज में बुधवार की शाम को सदर कोतवाली थाना क्षेत्र के एक स्टेंड पर तब बवाल मच गया जब यहां स्टेंड पर एक रोडवेज बस कंडेक्टर को कुछ प्राइवेट बस कंडक्टरों ने बुरी तरह पीटा, इस दौरान उन्होंने आग लगाकर कंडक्टर को जिंदा जलाने की भी कोशिश की। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें क्या है पूरा मामला


महराजगंजः सदर कोतवाली थाना क्षेत्र के बस स्टेंड पर बुधवार की शाम को तब अफरा-तफरी मच गई जब यहां पर किसी बात को लेकर एक रोडवेज के कंडक्टर को कुछ प्राइवेट बस कंडक्टरों ने न सिर्फ बुरी तरह पीटा बल्कि आग लगाकर उसे सड़क पर जिंदा जलाने की भी कोशिश की। वो तो गनीमत रही कि रोडवेज कंडक्टर ने हिम्मत दिखाई और वह किसी तरह इनके चंगुल से छूटकर मौके से भाग गया। नहीं तो ये प्राइवेट कंडक्टर रोडवेजकर्मी को जिंदा जलाकर मार देते।     

यह भी पढ़ेंः महराजगंजः सिसवा नगर में स्वच्छता मिशन की उड़ी धज्जियां.. खुले में कूड़ा जलने से फैल रही बीमारियां

 

 

इस दौरान बीच सड़क पर रोडवेज कंडक्टर को पिटते देखकर भी कोई बीच-बचाव के लिये आगे नहीं आया। प्राइवेट बस कंडक्टरों की गुंडागर्दी इस कदर रोडवेज कंडक्टर पर हावी थी कि वह उसे जकड़कर उस पर आग लगाने की कोशिश कर रहे थे। इस दौरान यहां सड़क पर काफी दूर तक देखते ही देखते वाहनों की लंबी कतार लग गई। बावजूद इसके न कोई राहगीर और न ही कोई वाहन चालक बीचबचाव करने लिये आगे आया। अगर कंडक्टर उनके चंगुल से नहीं छूटता तो शायद अब तक यह उसकी जान ले लेते।    

यह भी पढ़ेंः जानें...आखिर ऐसा क्या हुआ कि गूगल की नौकरी और लाखों का सैलरी पैकेज छोड़कर बनीं साध्वी

 

 

यह भी पढ़ेंः महराजगंज: पनियरा में राजन मिश्रा को बदमाशों ने मारी गोली, मौके पर पहुंची डाइनामाइट न्यूज़ की टीम

रोडवेज कंडक्टर से इस तरह ड्यूटी के दौरान मारपीट का जब दूसरे रोडवेज कर्मियों को पता चला तो वह मौके पर पहुंचे और उन्होंने सड़क पर प्राइवेट बस मालिकों और उनके ड्राइवर व कंडक्टरों के खिलाफ गुंडा-गर्दी का आरोप लगाते हुये सड़क पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना जब सदर कोतवाली थाना को पता चली तो मौके पर पुलिस बल रवाना हुआ और पुलिस ने रोडवेज कर्मियों को कड़ी कार्रवाई का आश्वासन देते हुये मामले को शांत करवाया। तब जाकर बड़ी मुश्किल से सड़क पर यातायात फिर से सुचारू हो सका।  

वहीं प्राइवेट दंबग कंडक्टरों से जान बचाकर भागे पीड़ित रोडवेज कंडक्टर वीरेंद्र प्रताप सिंह ने जो आपबीती डाइनामाइट न्यूज़ को बताई यह सुनकर आपके भी रोंगटे खड़े हो जायेंगे पीड़ित कंडक्टर ने बताया कि अगर वह प्राइवेट कंडक्टरों के चंगुल से छूटा नहीं होता तो शायद अब तक वह जिंदा नहीं होता। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …