महराजगंज: बीडीओ की लापरवाही से स्वच्छ भारत अभियान की उड़ी धज्जियां

डीएन संवाददाता

स्वच्छ भारत अभियान की किस तरह अनदेखी की जा रही है, इसका उदाहरण निचलौल ब्लॉक परिसर में देखने को मिलता है। बीडीओ की लापरवाही के कारण यहां गदंगी के अलावा और कुछ नजर नहीं आता है। डाइनामाइट न्यूज की स्पेशल रिपोर्ट..

ब्लॉक परिसर में खराब पड़े हैंडपंप
ब्लॉक परिसर में खराब पड़े हैंडपंप

महराजगंज: स्वच्छ भारत अभियान के तहत भले ही जिले में कई जगहों पर सफाई अभियान तेजी से चल रहा हो, लेकिन तहसील निचलौल के ब्लॉक परिसर की दुर्दशा को देखकर बीडीओ की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: नामांकन रद्द होने से भड़के स्टूडेंट्स, कहा- छात्र संघ चुनाव रोका तो करेंगे आंदोलन, डीएम से गुहार

 

 

निचलौल ब्लॉक परिसर में लगे कूड़े का अंबार, घास-फूस के ढ़ेर, पानी से भरी हुई गंदी नालियां, महीनों से खराब पड़े इंडिया मार्का हैंड पंप साफ बयां कर रहे हैं कि अफसरों की लापरवही के कारण स्वच्छ भारत अभियान दम तोड़ रहा है। निचलौल ब्लॉक में पसरी गंदगी के कारण लोगों में भी भारी नाराजगी देखने को मिल रही है। 

पांच में से 3 हैण्ड पंप खराब, दो में दूषित पानी

निचलौल ब्लॉक परिसर में कुल 5 इंडिया मार्का हैण्ड पाईप लगे हुए है, जिसमें से 3 खराब हो चुके हैं और दो पंपों में पानी दूषित आता है। पेयजल की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं होने से लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दो हैंड पंपों के पानी से दुर्गन्ध आती हैं।

यह भी पढ़ें: महराजगंजः पिता की सूझबूझ से टली छात्र के अपहरण की वारदात, आरोपी को पकड़वाया 

ग्रमीण इसके लिये निचलौल ब्लॉक के खण्ड विकास अधिकारी दुर्योधन को जिम्मेदार मानते हैं। लोगों का कहना है कि खण्ड विकास अधिकारी को यह भी पता नहीं कि उनके ब्लॉक परिसर में कुल कितने इंडिया मार्का हैंड पंप हैं। गंदगी के कारण क्षेत्र में मलेरिया, डेंगू आदि खतरनाक बीमारियों का खतरा बना हुआ है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार