महराजगंज: पशु चिकित्सालय में फैली अव्यस्थाओं के खिलाफ पशुपालकों में उबाल, जमकर हंगामा

डीएन संवाददाता

सरकार द्वारा इंसान ही नहीं बल्कि पशुओं के इलाज और उनकी देखरेख के लिये भी समुचित व्यवस्था की जाती है लेकिन जिन लोगों को यह जिम्मेदारी सौंपी जाए यदि वे ही बेपरवाह हो जायें तो हर अच्छी व्यवस्था का बुरा हस्र होना स्वाभाविक है। ऐसा ही मामला जिले के पशु चिकित्सालय में उजागर हुआ है। पूरी खबर

पशु चिकित्सालय के बाहर आक्रोशित पशुपालक
पशु चिकित्सालय के बाहर आक्रोशित पशुपालक

सिसवां (महराजगंज): सिसवा विकास खण्ड के ग्राम अमडीहां स्थित पशु चिकित्सालय में फैली अव्यस्थाओं से ग्रामीणों में लंबे समय से जबरदस्त आक्रोश देखा जा रहा था, जो शनिवार को बाहर छलक पड़ा। पशु चिकित्सालय में चिकित्सकों के उपस्थित न रहने से परेशान पशुपालकों ने वहां जमकर हंगामा किया।

 

 

पशुपालकों का कहना है कि अस्पताल में चिकित्सक के न होने पर वहां मौजूद सहायकों द्वारा पशुपालकों से पैसे लिये जाते है, जिसके खिलाफ जनता का उबाल लगातार बढ़ता जा रहा है। पशुपालकों का कहना है कि वहां फैली अव्यस्थाओं के खिलाफ वह आगे बड़ा आंदोलन कर सकते हैं।

जानकारी के अनुसार आज अमडीहां स्थित पशु चिकित्सालय पर तैनात पशु चिकित्सक प्रतिभा चौहान अक्सर कार्यालय से गायब रहती है। नाराज पशुपालकों ने शनिवार को वहां पहुंचकर जमकर हंगामा और प्रदर्शन किया।

इस मौके वहां उपस्थित पशुपालक जग्गू यादव,  अमरनाथ खरवार, अन्नू, मुन्ना चौधरी,  रामकेवल, हरिचन्द्र, प्रभावती देवी, इंद्रावती, मंशा देवी, गोलू, अच्छेलाल एवं उमेश आदि ने बताया कि इस पशु चिकित्सालय पर चिकित्सक तो तैनात है, पर वह अक्सर गायब रहती है। यह अस्पताल सहायकों के भरोसे चलता है। जब चिकित्सक मौजूद भी होती है तो पशुपालकों से सौ रुपये फीस लेकर पशुओं का इलाज करती है। पशुपालकों के मुताबिक अस्पताल से दवा भी नहीं दी जाती है।

डॉक्टर प्रतिभा चौहान के पति बाहर से दवा लाने के लिए बोलते है। जो पशुपालक अस्पताल से दवा की मांग करते है उनके साथ बदसलूकी की जाती है। पशुपालकों को बिना दवा कराये ही वापस जाना पड़ता है
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार