महराजगंज: फरेंदा के व्‍यवसायी की 'मर्डर मिस्‍ट्री' में उलझी पुलिस.. 24 घंटे के बाद भी कोई सुराग नहीं

डीएन ब्यूरो

बीते दिन जिले के फरेंदा के एक व्‍यापारी की जंगल में लाश मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया। वह घर से अचानक लापता हो गए थे। 24 घंटे बाद भी पुलिस की जांच किसी नतीजे पर नहीं पहुंचती दिख रही है। पोस्‍टमार्टम होने पर हत्‍या किए जाने की आशंका पर से परदा उठ सकता है। आज व्‍यापारी के घर पहुंचकर डाइनामाइट न्‍यूज की टीम ने परिजनों से बातचीत की।


महराजगंज: बीते दिन जिले के फरेंदा के एक व्‍यापारी महेश सिंघानिया की जंगल में शव मिलने से इलाके में हड़कंप मच गया। वह घर से अचानक लापता हो गए थे। 24 घंटे बाद भी पुलिस की जांच किसी नतीजे पर नहीं पहुंचती दिख रही है। पोस्‍टमार्टम होने पर हत्‍या किए जाने की आशंका पर से परदा उठ सकता है। आज डाइनामाइट न्‍यूज की टीम ने परिजनों से उनकी मौत के कारणों पर उनकी राय जानने की कोशिश की। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: फरेंदा में घर से लापता व्यापारी का जगंल में मिला शव, हत्या की आशंका.. इलाके में हड़कंप

उनके परिवार के ही रिश्‍ते के एक बड़े भाई ने बताया कि उन्‍होंने बताया कि शव मिलने के पहले बीती शाम को घर आए थे। इसी दौरान उनको एक फोन आया और वह बात करते हुए घर से बाहर चले गए। जिसके बाद से ही वह लापता हो गए थे। उनका फोन भी स्‍व‍िच ऑफ हो गया लेकिन जब 24 घंटे तक वह नहीं लौटे तो खोजबीन की जाने लगी। किसी से कोई धमकी झगड़े या फिरौती मांगने की बात से उन्‍होंने इनकार किया। 

वहीं एक दूसरे परिजन ने दुख प्रकट करते हुए बताया कि उनको किसी भी रंजिश की बात से भी इनकार करते हुए बताया कि वह स्‍वभाव से बेहद ही सरल था। 

मामले की जांच चल रही है जल्‍द सुलझा लिया जाएगा केस

सीओ अशोक कुमार सिंह ने डाइनामाइट न्यूज़ को बताया मामले की जांच चल रही है। मोबाइल संबंधी जानकारियों को खंगाला जा रहा है। जल्‍द ही केस को सुलझा लिया जाएगा। हालांकि इस दौरान उन्‍होंने व्‍यापारी को किसी परिचित के साथ जाने की बात बताई है।

अभी तक खाली हाथ पुलिस

परिजन उनकी हत्या की आशंका जता रहे हैं लेकिन 24 घंटे बीतने के बाद पुलिस अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है। शोक संतप्‍त परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

कल दोपहर में जंगल में मिला था शव

गौरतलब है कि महराजगंज के फरेंदा के प्रतिष्ठित व्‍यवसायी महेश सिंघानिया बीते दिन से घर से लापता थे उनका मोबाइल भी बंद था। उनका शव कल एक बजे के आसपास लेहड़ा मंदिर के पास मिला था। 

उनके परिवार में वह सबसे बड़े थे उनके दो छोटे भाई भी हैं। वह फरेंदा इलेक्ट्रिक की दुकान चलाते थे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …