Mahashivratri के दिन भूलकर भी न करें यह काम , होगा अशुभ

डीएन ब्यूरो

महाशिवरात्रि का पर्व पूरे देश में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का त्यौहार माना जाता है। महाशिवरात्रि के दिन भूलकर भी इन कामों को न करें वरना यह आपके लिए अशुभ हो सकता है।

भगवान शिव (फाइल फोटो)
भगवान शिव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: महाशिवरात्रि का पर्व पूरे देश में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का त्यौहार माना जाता है। इस साल महाशिवरात्रि का पर्व 13-14 फरवरी मनाई जाएगी।

यह भी पढ़ें: महाशिवरात्रि पर्व पर जपें भगवान भोले का यह मंत्र, होंगी सभी मनोकामनाएं पूर्ण

महाशिवरात्रि के दिन भूलकर भी इन कामों को न करें वरना यह आपके लिए अशुभ हो सकता है। 

शिवरात्रि के दिन चावल, दाल और गेहूं से बने खाद्य पदार्थों से को न खाये। शिव भक्त फल, दूध, चाय, कॉफी इत्यादि का ही सेवन करे तो ज्यादा अच्छा है। 

शिवरात्रि में शिवलिंग पर हल्दी न चढ़ाये क्योंकि शिवजी की पूजा में हल्दी से पूजा करना अच्छा नहीं माना जाता है। 

इस दिन शिवभक्त बड़े, बुजुर्गों का सम्मान करें, उनका अपमान करने पर भगवान भोलेनाथ आपसे नाराज हो सकते हैं। 

ऐसी मान्यता है कि भगवान भोलनाथ के भक्तजन को शिवलिंग पर चढ़ाए जाने वाले प्रसाद को ग्रहण नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे अच्छा नहीं माना जाता है। ऐसा करने से धन हानि और बीमारियां होने का भी खतरो हो सकता है। 

भगवान भोलनाथ की पूजा के समय या शिवरात्रि के दिन काले रंग के वस्त्र न पहने इसे अशुभ माना जाता है।

क्यों मनाया जाता है महाशिवरात्रि का पर्व

ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान भोलनाथ और मां पार्वती का विवाह हुआ था और इसी दिन पहला शिवलिंग भी प्रकट हुआ था। महाशिवरात्रि के दिन ही भगवान भोलेनाथ ने कालकूट नामक विष को अपने कंठ में रख लिया था, जो समुद्र मंथन के समय बाहर आया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)