संजीत यादव अपहरण-हत्याकांड: पीड़ित परिवार ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से की मुलाकात, इंसाफ की गुहार

डीएन ब्यूरो

कानपुर के बर्रा में लैब टेक्नीशियन संजीत यादव के अपहरण और हत्याकांड मामले में इसांफ की गुहार लेकर आज पीड़ित परिवार लखनऊ पहुंचा, जहां उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की। डाइनामाइट न्यूज रिपोर्ट..


लखनऊ: कानपुर के बर्रा में लैब टेक्नीशियन संजीत यादव अपहरणकांड और हत्याकांड के मामले में इंसाफ की बाट जोह रहे पीड़ित परिवार ने आज लखनऊ पहुंचकर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की और इंसाफ की गुहार लगाई। पीड़ित परिवार ने सपा मुख्यालय में पूर्व सीएम से मुलाकात कर दोषियों पर कारवाई किये जाने और आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर रणजीत राय को नौकरी से बर्खास्त करने की अपील की। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उनकी पीङा को सरकार के सामने रखने की बात कही। 

यह भी पढ़ें..कानपुर कांड में भारी किरकिरी के बाद जागे अफसर, एएसपी-सीओ समेत चार निलंबित

संजीत के परिजन लखनऊ आकर अखिलेश यादव से मिलकर अपनी पीड़ा बताना चाहते थे। मगर लोकल पुलिस उन्हें लखनऊ आने की परमीशन नहीं दे रही थी। मगर जब पूर्व सीएम अखिलेश यादव के दफ्तर से कानपुर जिला प्रशासन को पत्र लिखकर उन्हे लखनऊ आने की अनुमति दिये जाने की अपील की।तब जिला प्रशासन ने लोकल पुलिस के साथ उन्हे लखनऊ जाने की अनुमति दी। आज इस मुलाकात के दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पीड़ित परिवार को हर संभव मदद देने का आश्वासन भी दिया। 

यह भी पढ़ें..कानपुर के चर्चित संजीत यादव अपहरण और हत्याकांड की जांच में नया मोड़, सरकार ने लिया बड़ा फैसला

गौरतलब है कि संजीत यादव अपहरणकांड का 31वें दिन खुलासा हुआ था। संजीत की हत्या कर दी गई थी लेकिन पुलिस के कहने पर पीड़ित परिवार ने हत्या से पहले अपहरणकर्ताओं को कथित तौर पर 30 लाख की फिरौती भी दी थी। इस मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आयी थी, जिसके बाद कई पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया था। 

 

 सब्सक्राइब करें हमारा टेलीग्राम चैनल

इस प्रकरण मे बर्रा थाना के तत्कालीन इंस्पेक्टर रणजीत राय, सीओ, एसपी साउथ को निलंबित कर दिया गया था। यूपी सरकार ने मृतक संजीत के परिजनों की मांग पर मामले की सीबीआई जांच की अपील भी कर दी है। मगर अभी तक सीबीआई इस मामले की जांच शुरू नही कर पाई है।








संबंधित समाचार