लखनऊ: धर्म गुरुओं ने सुप्रीम कोर्ट के तीन तलाक के फैसले को स्वीकारा

डीएन संवाददाता

लखनऊ के धर्म गुरुओं ने सुप्रीम कोर्ट के तीन तलाक के फैसले को स्वीकारा और केंद्र सरकार से शरियत के कानून में हस्तक्षेप न करने की अपील की।

स्रोत इंटरनेट
स्रोत इंटरनेट

लखनऊमहीनों से चल रहे तीन तलाक के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने आज ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुये इसे असंवैधानिक घोषित कर दिया है और  6 महीने की रोक लगा दी है। कोर्ट के इस फैसले से लोगों ने अपनी अलग-अलग प्रतिक्रिया दी।

लखनऊ के सुन्नी धर्म गुरुओं ने इस फैसले का स्वागत किया और केंद्र सरकार से शरियत के कानून में हस्तक्षेप न करने की अपील की।

वहीं शिया धर्मगुरुओं ने इस फैसले का स्वागत कर केंद्र सरकार से सख्त कानून बनाने को कहा।

शिया बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने कहा कि उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि उम्मीद है कि केंद्र सरकार छह महीने के कोई ऐसा कानून बनाये जिससे महिलाओं को तीन तलाक से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाएगा।

 

 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार