यूपी एटीएस के दिवंगत राजेश साहनी प्रकरण में सीनियर पीपीएस अधिकारी बोले- मामले की हो सीबीआई जांच

डीएन संवाददाता

लखनऊ में यूपी एटीएस के दिवंगत राजेश साहनी के खुदकुशी प्रकरण को लेकर आयोजित पीपीएस एसोसिएशन के पदाधिकारियों की बैठक में इस मामले आक्रोशित पीपीएस अधिकारियों ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये। पूरी खबर..


लखनऊ: यूपी एटीएस के दिवंगत एएसपी राजेश साहनी के खुदकुशी प्रकरण को लेकर आयोजित पीपीएस एसोसिएशन के पदाधिकारियों की बैठक काफी गमगीन माहौल में संपन्न हुई। सभी पीपीएस अधिकारियों के चेहरे पर उनके बीच एक जांबाज और खुशमिजाज अफसर के न होने का गम साफ झलक रहा था। 

यह भी पढ़ें: क्या आत्महत्या के लिए यूपी एटीएस के एएसपी राजेश साहनी को किसी ने किया मजबूर?

 

 

यह भी पढ़ें: लखनऊ: राजकीय सम्मान और नम आंखों के साथ जांबाज अफसर राजेश साहनी को दी गयी अंतिम विदायी 

बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए सीनियर पीपीएस अधिकारी राजेश सिंह ने इस मामले में शीघ्र एफआईआर दर्ज कराने और संदिग्ध सुसाइड की सीबीआई जांच कराने की मांग की। इस मामले को लेकर राजेश सिंह से जब मीडिया ने कुछ सवाल किये तो उनका गम गुस्से में तब्दील हो गया, जिससे साफ था कि सभी पीपीएस अधिकारी कहीं न कहीं आशंकित हैं। अधिकतर अफसरों ने माना कि राजेश साहनी जैसे जिंदा दिल अफसर ऐसा कदम नहीं उठा सकते।

यह भी पढ़ें: राजेश साहनी के मित्र और वरिष्ठ पत्रकार विनोद कापड़ी डाइनामाइट न्यूज़ से बोले- सुसाइड केस संदिग्ध, CBI जांच से होगा राजफाश  

यूपी पीपीएस एसोसिएशन अध्यक्ष अजय कुमार ने बैठक के बाद साहनी के परिवार को सुरक्षा और सरकारी सहायता दिलाने की मांग की। उन्होंने कहा कि इस मामले में सच का सामने आना जरूरी है।

इस बैठक से पहले लखनऊ के पुलिस ऑफिसर्स मेस में यूपी एटीएस के दिवंगत राजेश साहनी की याद में एक शोकसभा का आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में आईपीएस और पीपीएस अधिकारी मौजूद रहे। 
 













संबंधित समाचार