लखनऊ: सरकारी नौकरी के नाम पर युवाओं से लाखों की ठगी, 2 शातिर गिरफ्तार

डीएन संवाददाता

राजधानी पुलिस ने आखिरकार उस गिरोह का भंड़ाफोड़ कर लिया है, जिसकी उसे लंबे अरसे से तलाश थी। यह गिरोह पहले बेरोजगार युवकों को क्रान्ति युवा दल का सदस्य बनाकर मोटी तनख्वाह का लालच देता था, बाद में सरकारी नौकरी का लालच देकर युवाओं से 10 से 15 लाख रुपए ठगता था।

पुलिस की गिरफ्त में दो शातिर
पुलिस की गिरफ्त में दो शातिर

लखनऊ: राजधानी पुलिस ने बेरोजगार युवकों को नौकरी के नाम पर ठगने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। यह गिरोह अब तक बेरोजगार युवकों को अपना शिकार बना चुका है और लाखों रूपए की ठगी कर चुका है।

यह भी पढ़ें: तमंचे संग आया युवक बोला- सीएम योगी से मिलाओ, नहीं तो गोली मार दूंगा

गोमतीनगर पुलिस ने बताया कि इस गैंग का का मास्टरमाइंड सम्पूर्णानंद पाण्डेय फरार है। जबकि इस मामले में कृष्णानंद पांडे पुत्र दीनानाथ पांडे और प्रदीप गौतम पुत्र जयशंकर प्रसाद निवासी लखनऊ को गिरफ्तार कर लिया गया हैं। यह गिरोह अलग-अलग विभागों में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवकों को अपने जाल में फंसाता था।

यह भी पढ़ें: 100 से भी अधिक लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले गैंग का पर्दाफाश

पुलिस के मुताबिक गिरोह पहले बेरोजगार युवकों को क्रान्ति युवा दल का सदस्य बनाकर हर महीनें मोटी तनख्वाह का लालच देता था। बाद में विभिन्न सरकारी विभागों में खाली पड़े पदों पर सरकारी नौकरी का लालच देते थे और उनसे नौकरी के नाम पर 10 से 15 लाख रुपए वसूलते थे। पुलिस ने बताया कि ठगी करने वाला यह गिरोह एफसीआई, जल निगम, रेलवे, सीआरपीएफ और वार्ड ब्वॉय की नौकरी का लालच देते थे। पुलिस से बचने के लिये गिरोह के लोग अपने ठिकाने बदलते रहते थे। 

यह भी पढ़ें: मोबाइल लकी ड्रॉ के नाम पर करोड़ों रुपये ठगने वाले गैंग का पर्दाफाश

पुलिस को इस शातिर गिरोह की लंबे समय से तलाश थी। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने राजधानी के गोमतीनगर थानाक्षेत्र से गिरफ्तार किया है। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है। गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ धारा 420,467,468,504 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार