लखनऊ: 100 से भी अधिक लूट की वारदातों को अंजाम देने वाले गैंग का पर्दाफाश

डीएन संवाददाता

राजधानी लखनऊ में आज पुलिस ने चोरी और लूट की 100 से भी ज्यादा वारदातों को अंजाम देने वाले एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है। एसएसपी दीपक कुमार ने इस गैंग का पर्दाफाश करने वाली पुलिस टीम को 15 हजार रूपये का नगद इनाम देने की घोषणा की है।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी 
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी 

लखनऊ: थाना अलीगंज में पुलिस अधिकारियों ने एक बड़े लुटेरों के गैंग का पर्दाफाश किया है। राजधानी में एक किराए के मकान वाले इस गिरोह ने शहर में 60 से भी ज्यादा बार वारदातों को अजांम दिया है। यह गैंग दिल्ली और गाजियाबाद में भी 100 से भी अधिक वारदातों के अंयाम दे चुका है। पुलिस को इनके पास से 1 लाख 40 हज़ार रुपए नगद और 2 बाइकें भी मिली हैं।

गिरफ्तार किेये गये इन 5 शातिरों के नाम आरिफ पुत्र अजीज अहमद ,अजीम पुत्र नौशाद फैजान उर्फ कल्याण पुत्र मुन्ने, इमरान पुत्र नाजिर रेहान पुत्र तबीब हैं। यह सभी गाजियाबाद के रहने वाले हैं

 

वारदातों को अंजाम देकर गल्फ देशों में भेजते थे रुपए 

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया है की इस गिरोह के शातिर वारदातों को अंजाम देने के लिए राजधानी लखनऊ के शिया कॉलेज के सामने इकट्ठे होते थे। वहीं से लूटपाट करने के लिए निकलते थे। इस ग्रुप के सभी मेंबर लूटपाट करके लग्जरी जीवन बिताते थे। एसएसपी दीपक कुमार का कहना है कि गैंग का मास्टर माइंड आरिफ है। जो लखनऊ के हसनगंज थाना क्षेत्र में किराए के मकान में रहता था। जो अपने पूरे गिरोह का संचालन करता था। गैंग लीडर आरिफ इतना शातिर था कि अपने गैंग के किसी दूसरे मेंबर को अपने मकान का पता नहीं बताता था।

एसएसपी ने बताया की रास्ते में जब भी कोई महिला उन्हें अकेले मिल जाती, तो वह उसका पर्स छीन कर गलियों में भाग जाते थे। अपने साथ हमेशा एक बैग रखते थे। जिसमें छिनैती के सामान छिपा देते थे। जिससे चेकिंग के दौरान पुलिस को झांसा दिया जा सके। एसएसपी दीपक कुमार ने बताया यह रोजाना 2 से 3 घटनाएं करते थे। 

ब्लैक मनी को करते थे सफेद

पुलिस ने बताया कि इस गिरोह का लीडर आरिफ लूट के माल को दिल्ली के चोर बाजार में बेच देता था। उनसे मिले पैसों को गल्फ देशों में भेजता था।
जिससे की 2 नंबर के पैसे को 1 नंबर में बदला जा सके। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने इन्हें सीतापुर रोड से तब गिरफ्तार किया, जब ये बाराबंकी भागने की फिराक में थे। 

एसएसपी दीपक कुमार ने थाना अलीगंज को 15 हजार रूपये इनाम देने की घोषणा की है। पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है ताकि इनके और सदस्यों के बारे में पता चल सके। 


 













संबंधित समाचार