लखनऊ: मोबाइल लकी ड्रॉ के नाम पर करोड़ों रुपये ठगने वाले गैंग का पर्दाफाश

डीएन संवाददाता

ग्राहकों को उनके मोबाइल नंबर का लकी ड्रॉ आने और लाखों रूपये जीतने का लालच देकर लोगों को जाल में फंसाया जाता था। जीत की रकम लेने के लिये लोगों को अलग-अलग टैक्स के नाम पर अलग-अलग खातों में पैसे जमा कराये जाते थे। इस गोरखधंधे के जरिये शातिर अब तक करोड़ों रूपये लूट चुके हैं।


लखनऊ: राजधानी की साइबर क्राइम सेल ने एयरटेल कंपनी का फर्जी अधिकारी बनकर ग्राहकों को करोड़ो रुपए का चूना लगाने वाले एक शातिर गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है, जबकि उसके अन्य 4 साथी फरार हैं। पुलिस ने फरार लुटेरों की तलाश शुरू कर दी है।

आरोपी से 20 लाख की नकदी बरामद

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये आरोपी का नाम उदय सिंह चौहान पुत्र जसवंत सिंह चौहान, निवासी कानपुर नगर है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी के पास से 20 लाख रुपए नगद, एक सोनालिका ट्रैक्टर और एक बाइक बरामद की है।

थाना कैंट में पीड़ित ने कराया था मामला दर्ज

मामले की जानकारी देते हुए एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा ने बताया कि इस मामले में थाना कैंट में एक पीड़ित ने मामला दर्ज किया था, जिसकी विवेचना थाना हजरतगंज पुलिस, एटीएस और साइबर क्राइम सेल मिल कर रहे थे। यह गिरोह एयरटेल कंपनी के ग्राहकों को उनके मोबाइल नंबर का लकी ड्रॉ आने और लाखों रूपयों की ईनामी राशि देने की बात करके अपने जाल में फंसाता था।

रकम जमा होने पर मोबाइल बंद

बाद में ग्राहकों को ईनामी राशि पाने के लिए इनकम टैक्स, सर्विस टैक्स आदि का हवाला देकर लाखों रुपए अलग-अलग फर्जी खातों में जमा करवाये जाते थे। रकम जमा होने के बाद ये लुटेरे अपना मोबाइल नंबर बंद कर देते थे।

पुलिस को इस तरह चला रैकेट का पता

पीड़ित की शिकायत पर थाना कैंट पुलिस ने मामले की जांच शुरु की। इस दौरान पुलिस को इस रैकेट का पता लगा। इस मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो गिरोह का भंडाफोड़ हुआ। पुलिस ने अन्य सदस्यों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस अब यह पता लगाने मे जुटी है कि अब तक इस गिरोह द्वारा कितने लोगों को निशाना बनाया गया है। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार