चिप लगाकर तेल चोरी के मामले में भारत पेट्रोलियम ने 11 पेट्रोल पंप के लाइसेंस किए रद्द

डीएन संवाददाता

पेट्रोल पंप पर चिप लगाकर चोरी करने के मामले में एसटीएफ ने छापेमारी की। इसके बाद भारत पेट्रोलियम ने 11 पेट्रोल पंप के लाइसेंस निरस्त कर दिए गए हैं।

पेट्रोल पंप
पेट्रोल पंप


लखनऊ: डिस्पेंसर यूनिट में चिप लगाकर रिमोट के जरिए तेल चोरी का मामला सामने आने के बाद तेल कंपनियों ने इस मामले में बड़ी कार्रवाई की है। इस दौरान उन पेट्रोल पंपों के लाइसेंस रद्द किए जा रहे हैं, जिनमें तेल चोरी का मामला सामने आया है।

स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने प्रशासन की टीम के साथ पूरे प्रदेश में पेट्रोल पंपों पर छापेमारी का सिलसिला जारी है। बाट माप विभाग के अलावा पेट्रोलियम कंपनियों को भी जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए।

11 पेट्रोल पंपों के लाइसेंस निरस्त

भारत पेट्रोलियम के अधिकारियों के मुताबिक जांच में 11 पेट्रोल पंपों पर इलेक्ट्रानिक चिप के जरिये तेल चोरी किए जाने की पुष्टि हुई है। सभी पंपों के डीलर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके लाइसेंस व अनुबंध निरस्त कर दिए गए हैं।

इन जगहों के पेट्रोल पंपों पर हुई कार्रवाई

भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन ने लालता प्रसाद वैश्य के मेडिकल कॉलेज व सीतापुर रोड स्थित पेट्रोल पंप, आशियाना स्थित चंद्रा पेट्रोल पंप, ब्रिज ऑटो मोबाइल गोमतीनगर, मान फिलिंग स्टेशन डालीगंज, शिव नारायण पेट्रोल पंप कैंट, ठाकुरगंज स्थित लखनऊ फिलिंग स्टेशन और अलीगंज में मिशअरा ऑटो मोबाइल शामिल हैं। उधर प्रशासन ने तेल कंपनियों व बांट-माप विभाग से जांच में घटतौली में दोषी मिले पेट्रोल पंपों की सूची भी तलब की है।










संबंधित समाचार